class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विकास के लिए धन की कमी नहीं : हुड्डा

हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने विश्वव्यापी मंदी के बावजूद प्रदेश की वित्तीय स्थिति पर संतोष जताया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के राजस्व में अपेक्षाजनक वृद्धि हुई है। ऐसे में राज्य के विकास कार्यो के लिए  धन की कोई कमी आड़े नहीं आने दी जाएगी।

हुड्डा मंगलवार को राज्य की वित्तीय स्थिति पर पर चर्चा के लिए आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष में नवंबर तक राजस्व प्राप्ति 12,528 करोड़ 11 लाख रुपये है, जबकि पिछले वर्ष इसी अवधि के दौरान राजस्व प्राप्ति 11262 करोड़ 74 लाख रुपये थी। यानी पिछले वर्ष के मुकाबले में इस वर्ष राजस्व में 11.23 प्रतिशत की वृद्घि दर्ज की गई है।

इस वर्ष की तीसरी तिमाही के दौरान राजस्व कर प्राप्ति बड़ी  उत्साहवर्धक रही है और अक्टूबर और नवंबर के दौरान यह आंकड़ा 12 प्रतिशत अधिक रहा। बैठक में कहा गया कि जहां तक राजस्व घाटे का प्रश्न है, कुल मिलाकर वित्तीय स्थिति संतोषजनक रही है और यह घाटा प्रबन्ध व्यवस्था करने योग्य है।

राज्य सरकार के छठे वेतन आयोग की दूसरी किस्त के एरियर के 1650 करोड़ रुपये की राशि राज्य सरकार पर अतिरिक्त भार डाले पूरी की जा सकती है और इससे विकास पर भी कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों का आह्वान किया कि वे राजस्व की चोरी को रोकने और इसकी भरपाई को सुनिश्चित करने के लिए हर संभव उपाय करें। कुछ विभागों में यह पाया गया है कि उन्हें प्रदेश का राजस्व बढ़ाने के अभी और प्रयास करने होंगे।

मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिए गए  कि वे ऐसे क्षेत्रों की पहचान करें और इस दिशा में तुरन्त आवश्यक कदम उठाएं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विकास के लिए धन की कमी नहीं : हुड्डा