class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अल्ट्रासाउंड का करंट डीसीईओ ने निकाला

जिला अस्पताल में पिछले तीस दिनों से अल्ट्रासाउंड मशीन खराब पड़ी है। डीसीईओ अनिल राजकुमार अस्पताल को देख रहे हैं लेकिन उनका कहना है कि स्वास्थ्य उपकरणों में होने वाली कमियों को ठीक करवाने की जिम्मेदारी मेरी नहीं है। इसकी जिम्मेदारी डीसीईओ एन.पी.सिंह की है। यहीं नहीं अनिल राजकुमार का यह भी कहना है कि अस्पताल की मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ.राजरानी कंसल ने इस संबंध में मुङो कोई जानकारी ही नहीं दी है। न ही संबंधित कोई फाइल मेरे पास आई है। अल्ट्रासाउंड मशीन ठीक नहीं होने की वजह से मरीज परेशान हैं और अधिकारी अपनी जिम्मेदारी से ही पल्ला झाड़ रहे हैं।


डीसीईओ अनिल राजकुमार से जब इस संबंध में बात की गई तो उन्होंने कहा कि जिला अस्पताल को मैं ही देखता हूं लेकिन मेन्टिनेंस डीसीईओ एन.पी.सिंह के हाथों में हैं। सीएमएस ने अल्ट्रासाउंड मशीन खराब होने के संबंध में मुङो कोई जानकारी नहीं दी है। डीसीईओ एन.पी.सिंह से जब इस बारे में बात की तो उनका कहना था कि यह मामला मेरे अधीन नहीं है फिर भी मैं परियोजना अभियंता विमल मांगलिक से इस संबंध में बात करूंगा क्योंकि यह मामला मरीजों की समस्या से जुड़ा हुआ है। एन.पी.सिंह ने कहा कि अस्पताल की सीएमएस की यह जिम्मेदारी बनती है कि मशीन अपने स्तर से ठीक करवाएं और उसका बिल अथॉरिटी को भेजें। एन.पी.सिंह ने कहा कि मशीन जल्द ही ठीक करवाई जाएगी और समय-समय पर इसकी प्रगति रिपोर्ट भी ली जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अल्ट्रासाउंड का करंट डीसीईओ ने निकाला