अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेरिका में बसे भारतीय भी कर रहे हैं हरित प्रदेश का समर्थन

पश्चिम उ.प्र. के 22 जिलों के लोग ही नहीं अमेरिका में बसे भारतीय भी वर्षो से हरित प्रदेश के गठन की मांग का समर्थन कर रहे हैं। इसके लिए वहां बसे 76 परिवार के लोग नियमित तौर से मीटिंग करते हैं और हरियाणा, पंजाब की तरह हरित प्रदेश के खुशहाली की कामना करते हैं।

अमेरिका में बसे वेस्ट यूपी के लोग कैलीफोर्निया में ‘फ्रेण्डस ऑफ हरित प्रदेश’ नामक एक संगठन चला रहे हैं। संगठन से जुड़े दो व्यक्ति साहब सिंह तोमर और लछेड़ा(मुजफ्फरनगर) निवासी सुधीर सिंह इन दिनों घर आये हुए हैं।

साहब सिंह ने मंगलवार को ‘हिन्दुस्तान’ से बातचीत में बताया कि वे 1986 में मेरठ से अमेरिका गये। वहां निजी संस्थान में इंजीनियरिंग की क्लास लेते हैं। 1990 से वहां लगातार हरित प्रदेश को लेकर चर्चा हो रही है। उनका मानना है कि चर्चा क्यों न हो? वे प्रत्येक वर्ष एक बार अवश्य मेरठ आते हैं।

यहां न तो रेलवे स्टेशन बदला है और न ही बस स्टैण्ड। कम से कम प्रदेश बन जायेगा तो तरक्की तो होगी। वेस्ट यूपी में उद्योग लगाने को कई एनआरआई बैठे हैं, लेकिन लखनऊ, इलाहाबाद की दौड़ के कारण वे पीछे हट जाते हैं। कम से कम अपना प्रदेश बन जायेगा तब तो उन्हें उद्योग लगाने में आसानी होगी।

छोटे प्रदेश के विरोध पर उन्होंने कहा कि पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, उत्तराखंड, छतीसगढ़ जैसे छोटे राज्य बने हैं तो कौन सी मुसीबत आ गई। सारे राज्य तरक्की कर रहे हैं। ठंडे दिमाग से विचार कर पशिचम उ.प्र.को अलग राज्य बनाने पर विचार होना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हरित प्रदेश को अमेरिका से समर्थन