class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिल जमा करने में छूट गया पसीना

ऊखीमठ ब्लॉक के विभिन्न गांवों के ग्रामीणों को विद्युत बिलों को जमा करने में काफी दिक्कतें उठानी पड़ रही हैं। मंगलवार को ब्लॉक के दजर्नों गांवों के लोग बिल जमा करने गुप्तकाशी पहुंचे लेकिन विभाग ने बिल जमा करने के लिए निश्चित स्थान तय नहीं किया था जिस कारण उपभोक्ताओं की भारी फजीहत हुई।

ऊखीमठ ब्लॉक के गुप्तकाशी, भैसारी, देवर, सांकरी, रुद्रपुर, नाला, बणसू, जाखधार, त्यूड़ी, खुमेरा, देवशाल, कोरखी, नारायणकोटि, सेमी आदि गांवों के ग्रामीणों को विद्युत विभाग ने बिल जमा करने के लिए गुप्तकाशी बुलाया था। लेकिन विभाग ने कोई निश्चित स्थान तय नहीं किया जहां बिलों को जमा किया जा सके। इससे दिनभर उपभोक्ता भटकते रहे।

ग्रामीणों को काफी खोजबीन करने के बाद विद्युत बिल जमा करने वाले कर्मचारी मिले। ग्रामीणों का कहना था कि विद्युत विभाग द्वारा बिलों को जमा करने के लिए मात्र दो ही कर्मचारी लगाये गये थे जबकि दजर्नो गांव के ग्रामीणों को बिल जमा हेतु बुलाया गया।

ग्रामीणों ने भविष्य में विद्युत बिलों को जमा करने लिए विभाग से एक नियत स्थान चयनित करने के साथ ही विद्युत कर्मचारियों की तैनाती की मांग की।

बिल जमा करने आईं सोबित देवी, श्रद्धानंद देवशाली, पूर्वा देवी, प्रेम सिंह चौहान, राय सिंह भंडारी, यशवंत सिंह, समुद्रा देवी, सरस्वती देवी, हीरा सिंह, योगेन्द्र सिंह, शशिभूषण शुक्ला, आशीष सेमवाल, क्षेपंस धर्म सिंह नेगी आदि लोगों ने आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि विद्युत विभाग द्वारा स्थान बताये ही ग्रामीणों को गुप्तकाशी में बाजार में बुला दिया, लेकिन ग्रामीणों को गुप्तकाशी बाजार में विद्युत बिलों को जमा करने के लिए भटकना पड़ा।

वहीं विद्युत विभाग के अधिकारियों का कहना है कि ग्रामीणों को 15, 17 व 29 दिसम्बर को विद्युत बिलों को जमा करने की तिथि दी गई थी, लेकिन ग्रामीण एक ही दिन आ गये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिल जमा करने में छूट गया पसीना