अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड संबंधी अनुदान की अनुपूरक मांगों को संसद की मंजूरी

संसद ने मंगलवार को झारखंड आकस्मिकता निधि संशोधन विधेयक और वर्ष 2009—2010 के लिए झारखंड की 1074 करोड़ रूपये की अनुदानों की अनुपूरक मांगों को अपनी मंजूरी दे दी।
   

राज्यसभा ने 2009—2010 के लिए क्षारखंड की 1074 करोड़ रूपये की अनुदानों की अनुपूरक मांगों ओर इससे संबंधित विनियोग विधेयकों तथा झारखंड आकस्मिकता निधि संशोधन विधेयक को चर्चा कर आज ध्वनिमत से लोकसभा को लौटा दिया। लोकसभा इसे पहले ही मंजूरी दे चुकी है। उच्च सदन में मुख्य विपक्षी दल भाजपा के नेतृत्व में विपक्ष ने वित्त राज्य मंत्री नमो नारायण मीणा का जवाब शुरू होने से पहले ही राज्य में व्याप्त भ्रष्टाचार के मुद्दे पर सदन से वाकआउट कर दिया। इन दोनों विधेयकों पर हुई संयुक्त चर्चा का जवाब देते हुए मीणा ने कहा कि इस विधेयक को पेश करने के लिए चुनाव आयोग से मंजूरी प्राप्त हो गयी थी। उन्होंने माना कि झारखंड में विकाय कार्यो पर अपेक्षा से कम धन खर्च हुआ लेकिन उम्मीद जतायी कि आने वाले महीनों में पर्याप्त धन खर्च किया जाएगा।
   
उन्होंने कहा कि राज्य में विधानसभा चुनाव चल रहे हैं और वह चाहते हैं कि वहां बनने वाली लोकप्रिय सरकार राजू में विकास कार्यो को आगे बढ़ाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:झारखंड संबंधी अनुदान की अनुपूरक मांगों को संसद की मंजूरी