class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चोटियों पर हिमपात, घाटियों में वर्षा

सोमवार रात से रुक-रुक कर हो रही वर्षा के बाद मंगलवार को गंगोत्री, यमुनोत्री, बद्रीनाथ, केदार नाथ समेत तमाम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हिमपात हुआ है। निचली घाटियों और तराई में हो रही वर्षा के कारण तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। रुद्रप्रयाग में केदारनाथ सहित सभी ऊंची पहाड़ियां बर्फ से ढक गई है।

उत्तरकाशी में चार दिनों से घिरे बादल सोमवार रात से बरसने शुरू हुए। उच्च हिमालयी क्षेत्रों में राड़ी, यमुनोत्री, खरसाली, बीफ, सरूताल, बंदरपुंछ, सुतड़ी बुग्याल, लिवाड़ी, फिताड़ी, हरकीदून, केदारकांठा आदि क्षेत्रों में जमकर बर्फबारी हुई। बर्फबारी से यमुनोत्री धाम और पर्यटक क्षेत्र खरसाली व जानकीचट्टी की छटा निखर आई है।

उधर, बदरीनाथ, केदारनाथ, तुंगनाथ, मदमहेश्वर, रुद्रनाथ की पहाड़ियों में भी भारी हिमपात हुआ है। विश्व विख्यात हिमक्रीड़ा स्थल औली में भी बर्फबारी हुई। ऊंचाई वाले क्षेत्रों में 3-4 फिट बर्फ गिरी है। चोपता, औली, गोरसों, ग्वालदम में हिमपात होने से पर्यटकों के चेहरे खिल उठे हैं।

रूपकुण्ड, आली बुग्याल, वेदनी बुग्याल में भी मौसम का दूसरा हिमपात हुआ है। ऊपरी क्षेत्रों में हिमपात होने से नदी घाटी क्षेत्रों में ठंड बढ़ गई है।

नैनीताल में समेत कुमाऊं के तमाम क्षेत्रों में सोमवार रात से रुक-रुक वर्षा हो रही है। वर्षा के कारण नैनीताल का तापमान गिर कर 6 डिग्री पर पहुंच गया है।

आने वाले 24 घंटों में उत्तराखंड के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में छिटपुट वर्षा और बर्फबारी हो सकती है लेकिन निचले इलाकों में मौसम खुल जाएगा। मैदानी क्षेत्रों में आने वाले तीन-चार दिनों में मौसम सूखा रहेगा।
आनंद शर्मा, निदेशक, मौसम विज्ञान विभाग, देहरादून

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चोटियों पर हिमपात, घाटियों में वर्षा