अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जीडीए ने किया डीएमआरसी को पूरा भुगतान

जल्दी मेट्रो लाने की दिशा में कदम उठाते हुए जीडीए ने अस्सी करोड की आखिरी किस्त देने का फैसला लिया है। अब डीएमआरसी वैशाली तक मेट्रो लाने का प्रयास तेज कर देगी। मंगलवार को अस्सी करोड की अंतिम किस्त जारी करने पर सहमति बन गई। वैशाली तक मेट्रो लाने के लिए प्राधिकरण ने 260 करोड रुपए खर्चे हैं।


मेट्रो की प्रगति को लेकर डीएमआरसी अफसर और प्राधिकरण के बीच जीडीए परिसर में बैठक हुए। डीएमआरसी बकाया अस्सी करोड की मांग पहले ही कर चुकी थी। इस संबंध में प्राधिकरण को पत्र भी लिखा गया था। प्राधिकरण मेट्रो को 180 करोड रुपए दे चुका है। मंगलवार को बचे हुए अस्सी करोड भी देने का फैसला लिया गया। जीडीए उपाध्यक्ष एन.के.चौधरी ने बताया कि बचा हुआ पैसा एक साथ मेट्रो को देने का फैसला कर लिया गया है। इसके बाद डीएमआरसी वैशाली और वेव तक तेज गति के साथ मेट्रो लाने के काम में जुटेगी। गाजियाबाद में करीब ढाई किलोमीटर तक जापानी गुड़िया दौड़ेगी। आनंदविहार तक मेट्रो दिसंबर के अंत तक आ जाएगी। इस रूट पर ट्रायल चल रहा है। इसके बाद गाजियाबाद के लिए मेट्रो का काम तेज हो जाएगा। फिलहाल यूपीपीसीएल के चलते मेट्रो के काम में देरी हो रही है। इस संबंध में प्राधिकरण ने कई बार चिठ्ठी भी लिखी है। कामनवेल्थ खेलों से पहले मेट्रो लाने की कवायद में अंतिम किस्त जारी की गई है। प्राधिकरण का दावा है कि डीएमआरसी के साथ मिलकर राष्ट्रमंडल खेलों से पहले गाजियाबाद में मेट्रो लाई जाएगी। कॉमनवेल्थ के दौरान आनंदविहार पर भीड़ बढ़ जाएगी और उसे मैनेज करने के लिए भी गाजियाबाद स्टेशनों का चलना जरूरी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जीडीए ने किया डीएमआरसी को पूरा भुगतान