class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चार पहलवानों सहित 11 खिलाड़ी डोपिंग की गिरफ्त में

राष्ट्रमंडल खेलों से पहले डोपिंग निरोधक सारे उपाय करने के दावों को खोखला साबित करते हुए राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी- नाडा के अधिकारियों ने हाल ही में राष्ट्रीय खेल संस्थान- पटियाला से चार पहलवानों सहित कुल ग्यारह खिलाडि़यों को प्रतिबंधित दवाओं के सेवन का दोषी पाया है।

राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी के महानिदेशक राहुल भटनागर ने खिलाडि़यों के डोपिंग मामलों की पुष्टि करते हुए कहा कि डोपिंग टेस्ट में जिन खिलाडि़यों के नमूने पॉजिटिव पाए गए और उन्हें सात दिन का समय दिया गया है ताकि वे खुद नाडा के कार्यालय आकर बी नमूने दें।

भारतीय कुश्ती महासंघ के सूत्रों ने पुष्टि कर दी है कि राष्ट्रमंडल खेलों के लिए तैयारी कर रहे पहलवानों को दोषी पाया गया है। इस बारे में नाडा़ ने सूचना भी दी है।

भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष जीएस मंडेर ने बताया कि इस बारे में वह अभी कुछ नहीं कहना चाहते हैं, अभी यह मामला नाडा के पास है, एक बार वहां से दोषी साबित हो जाएं तब हम फेडरेशन की तरफ से कारवाई करेंगे।

सूत्रों के अनुसार इस मामले दोषी पाए गए पहलवानों में मुकेश कुमार और सुधीर दोनों 66 किलो और सुरेंदर 60 किलो को स्टेराइड्स के लिए पॉजिटिव पाया गया है जबकि एक अन्य पहलवान बिरजू 96 किलो ग्रीको रोमन के परीक्षण में प्रतिबंधित दवा डायूरेटिक के अंश पाए गए हैं।

भटनागर ने कहा कि खिलाडि़यों का अगर बी सैंपल भी पॉजिटिव पाया जाता है तो यह मामला अनुशासन समिति के सामने रखा जाएगा। उसके बाद नाडा नियमों के अनुसार सजा तय की जाएगी।

जानकार सूत्रों के अनुसार डोपिंग मामले ए सैपल में दोषी पाए गए खिलाडि़यों में चार पहलवानों के अलावा पांच एथलीट शामिल हैं। इनमें एक मुक्केबाज और एक जूडो खिलाड़ी भी शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चार पहलवानों सहित 11 खिलाड़ी डोपिंग की गिरफ्त में