अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत कर रहा प्रतिकूल प्रावधानों पर काम: रमेश

पर्यावरण मंत्री जयराम रमेश ने कहा है कि लांग टर्म कोऑपरेटिव एक्शन (एलसीए) ट्रैक के तहत तैयार किए गए मसौदे के तीन प्रावधानों में कुछ घटनाक्रम हुए हैं जो वर्तमान में भारत को अस्वीकार्य है। यह अफ्रीका समूह और बेसिक देशों की कार्यवाही में थोड़े ठहराव के बाद आया है।

इस बात का उल्लेख करते हुए कि छोटे द्वीप देशों के गठबंधन की ओर से तीन विवादास्पद प्रावधान आए हैं। रमेश ने कहा कि वह बरमूडा, ग्रेनाडा और बारबोडोस सहित बहुत से एओएसआईएस देशों के मंत्रियों से मिले हैं और बाद में मालदीव के मंत्री से मिलेंगे।

रमेश ने कहा, मैंने मंगलवार को एओएसआईएस देशों के मंत्रियो से दो बार मुलाकात की। हमने वैकल्पिक फॉर्मूले की सलाह दी है और हमने पैरा 3, पैरा 4 और पैरा 8 पर मिशेल कुटाजर को अपनी लिखित आपत्ति भी दी है।

पिछले सप्ताह एलसीए अध्यक्ष मिशेल जैमिट कुटाजर ने मूल मसौदा पेश किया था जिसके अनुच्छेद 3 में सभी पक्षों से 2050 तक ऊर्जा उत्सर्जन में 50-85 या 90 प्रतिशत तक की कटौती करने का आह्वान किया गया है।

अनुच्छेद 4 में सभी पक्षों से जल्द से जल्द कटौती प्रयास शुरू करने को कहा गया है। इसमें इस बात को मान्यता दी गई है कि पहले यह विकसित देश करेंगे और बाद में विकासशील देश। अनुच्छेद 8 साल 2016 में शुरुआत के साथ कटौती दायित्व कार्यान्वयन की समग्र समीक्षा करने का आहवान करता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत कर रहा प्रतिकूल प्रावधानों पर काम: रमेश