अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्रों पर भारी है स्वाइन फ्लू का खौफ

हॉट सिटी में पचास हजार से अधिक छात्रों पर स्वाइन फ्लू का खौफ हावी है। छात्र-छात्रएं प्रशासन से कॉलेज बंद करने की मांग कर रहे हैं। कुछ कॉलेजों ने सेशनल एग्जाम शिफ्ट कर दिए हैं। सोमवार को आरकेजीआईटी गल्र्स और ब्वायज तथा आईएमएस के दोनों कॉलेज बंद कर दिए गए।


प्रोफेशनल कॉलेजों में स्वाइन फ्लू का डर तेजी के साथ फैल गया है। किसी भी छात्र को होने वाला नजला-जुखाम साथियों को डरा देता है। वे कॉलेज बंदी की मांग कर रहे हैं। रविवार रात काइट में छात्रों ने हास्टल और कॉलेज बंद करने की मांग की। सोमवार सुबह आरकेजीआईटी के छात्र सेशनल देने नहीं पहुंचे। दोपहर बाद कॉलेज प्रशासन ने आरकेजीआईटी ब्वायज और गल्र्स बंद करने का फैसला लिया। एडमिनिस्टेटर विपुल गोयल ने बताया कि कॉलेज बीस दिसंबर तक बंद है। इस दौरान पड़ने वाले दो सेशनल भी पीछे हटा दिए गए हैं। कॉलेज में तत्काल फागिंग शुरू कर दी गई है। काइट के मनोज गोयल ने बताया कि कॉलेज ऐतियात के दौर पर सभी कदम उठा रहा है। छात्रों को होम्योपैथी दवाई दी जाएगी। इसके अलावा फागिंग शुरू होगी। आईएमएस ने अपने डासना और लालकुआं कॉलेज बंद करने का फैसला लिया है। प्रबंधन से जुड़े संजय अग्रवाल ने बताया कि आईएमएस ने सुरक्षा के लिए यह कदम उठाया है। कॉलेज 18 की सुबह खुलेगा। कई दूसरे कॉलेजों में भी अब बंदी की मांग उठने लगी है। 26 दिसंबर से सत्र परीक्षा हैं और इसका असर छात्रों की तैयारी पर पड़ना तय है।

बढ़ रहा है मानसिक तनाव
मनोचिकित्सक डा.संजीव त्यागी कहते हैं कि डर से मानसिक तनाव बढ़ रहा है। तैयारी के समय छात्रों पर स्वाइन फ्लू का डर हावी है। एग्जाम फोबिया तनाव बढ़ाने के लिए काफी है। उस पर स्वाइन फ्लू का डर छात्रों के मानसिक तनाव को बढ़ा रहा है।

कॉलेज हुए बंद
आरकेजीआईटी-बीस दिसंबर को खुलेगा ब्वायज और गल्र्स कॉलेज। फागिंग शुरु।
आईएमएस-डासना और लालकुआं पर कॉलेज बंद। 18 की सुबह खुलेंगे कॉलेज।
काइट- छात्रों की कॉलेज बंद करने की मांग। प्रशासन बाटेंगा होम्योपैथी दवाई। फागिंग भी कराई जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छात्रों पर भारी है स्वाइन फ्लू का खौफ