class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शराब की अवैध बिक्री पर रोक को लामबंद हुई महिलाएं

दनौदा गांव में शराब की अवैध बिक्री पर रोक लगाने के लिए स्थानीय महिलाओं ने अपनी आवाज बुलंद कर दी है। महिलाओं ने गांव के कुछ पुरुषों के साथ मिलकर सोमवार को नरवाना-उकलाना रोड़ पर जाम लगा दिया।

महिलाओं का कहना था कि गांव में शराब की अवैध बिक्री से यहां के परिवेश पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है।
दनौद गांव की पंचायत ने पिछले दिनों गांव में चल रहे अवैध खुर्दों को हटवाने के लिए प्रस्ताव पास करके पुलिस चौकी में दिया था।

गांव की महिलाओं का कहना है कि पुलिस ने पंचायत के  इस प्रस्ताव को कोई तवज्जो नहीं दी। इसी कारण उन्हें विरोध पद्र्शन को मजबूर होना पड़ा। महिलाओं का कहना है कि अवैध चल रहे खुर्दाें से उन्हें बहुत पेरशानी होती है।

शाम को घरों से निकलना मुश्किल हो जाता है। शराबी भला-बुरा कहते हैं। जाम की वजह से यात्रियों और वाहन चालकों को परेशान होना पड़ा। सूचना पाकर डीएसपी सुरेंद्र सिंह मलिक, थाना प्रभारी और तहसीलदार मौके पर पहुंच गए।

उन्होंने महिलाओं को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं मानीं। डीएसपी ने कहा कि गांव के पास जो शराब का ठेका है, वह वैध है और पुलिस इस मामले में कुछ नहीं कर सकती।

उधर, महिलाओं का कहना था कि गांव के कुछ लोग इस ठेके से शराब खरीदकर अवैध रूप से बेचते हैं और इस पर रोक लगनी चाहिए। इस पर डीएसपी ने आश्वासन दिलाया कि गांव में शराब की अवैध बिक्री की जांच करके आरोपी व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद ही महिलाओं ने जाम खोलने को राजी हुईं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शराब की अवैध बिक्री पर रोक को लामबंद हुई महिलाएं