अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विद्युतकर्मियों ने एसई को पीटा, माँगों को लेकर ढाई घंटे तक बंधक बनाया

बिजली कर्मचारियों की विभाग के अधीक्षण अभियंता से जीपीएफ व कुछ अन्य माँगों को लेकर कहासुनी हो गई। इस पर कर्मचारियों ने उनकी कार्यालय में पिटाई कर दी। इतना ही नहीं गुस्साए कर्मियों ने लगभग ढाई घंटे तक एसई को कार समेत बंधक बनाए रखा।

सूचना पर पहुँची पुलिस ने कर्मचारियों समझाकर किसी तरह एसई को उनके कब्जे से छुड़ाया। बाद में पुलिस सुरक्षा में एसई आदित्य कुमार सक्सेना को कार्यालय से उनके आवास भेजा गया।

सोमवार की दोपहर लगभग 12 बजे बिजली कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों व डिवीजन कार्यालय के कर्मचारियों ने काम बंद कर अरुणा नगर स्थित विद्युत वितरण निगम के अधीक्षण अभियंता आदित्य सक्सेना के कार्यालय को घेर लिया। उनकी माँग की थी कि एसई पदाधिकारियों के साथ वार्ता कर समस्या का समाधान करें।

संघ के जिलाध्यक्ष जंट सिंह यादव ने कहा कि कर्मचारियों का जीपीएफ का पैसा अभी तक नहीं दिया गया है। इसके अतिरिक्त अन्य मांगों को लेकर एसई से कर्मचारियों की कहासुनी हो गई। कहासुनी इतनी बढ़ गयी कि मामला मारपीट पर पहुँच गया।

कर्मचारियों ने एसई एके सक्सेना के ऑफिस में घुसकर मारपीट कर दी। उन्हें बचाने पहुँचे होमगार्ड को भी गुस्साए कर्मचारियों ने पीट डाला। बचने के लिए अधीक्षण अभियंता गाड़ी से घर जाने लगे, तो कर्मचारियों ने कार्यालय का गेट बंद कर दिया और बाहर धरना शुरू कर दिया।

लगभग ढाई घंटे बाद अधीक्षण अभियंता ने इसकी सूचना पुलिस को दी। कुछ देर बाद मौके पर पहुँची पुलिस ने कर्मचारियों को समझा-बुझाकर शांत किया। साथ ही अधीक्षण अभियंता से 21 दिसंबर को शाम को चार बजे वार्ता करने के लिए पत्र लिखवाया। इस पर कर्मचारी शांत हुए और एसई को वहाँ से जाने दिया।

विद्युत वितरण निगम के अधीक्षण अभियंता आदित्य सक्सेना ने बताया कि बिजली कर्मचारी संघ के पदाधिकारी जीपीएफ की माँग कर रहे हैं। इनकी माँगों को उच्चधिकारियों तक पहुँचा दिया गया है।

दुर्मिल सिंह, आरके दुबे, तक्षक कुमार, बन्ने खां ने उनके साथ मारपीट की है। इस घटना से एमडी तथा चेयरमैन को अवगत करा दिया गया है। इनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विद्युतकर्मियों ने एसई को पीटा