class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीजीआई में डिप्लोमा इन हॉस्पिटल एडमीस्ट्रेशन पाठ्यक्रम शुरू

प्रतिष्ठित प्रबंध संस्थानों की तर्ज पर एसजीपीजीआई भी मैनेजर तैयार करेगा। यहाँ हॉस्पिटल एडमीस्ट्रेशन से जुड़े कई पाठ्यक्रम शुरू किए जाएँगे। शुरुआती दौर में डिप्लोमा पाठ्यक्रम संचालित होंगे।

फिर डिग्री और पीजी की पढ़ाई होगी। इसका खाका तैयार किया जा रहा है। अधिकारियों ने 2010 में पाठ्यक्रम शुरू किए जाने की उम्मीद जताई है।

पीजीआई निदेशक डॉ. आरके शर्मा ने बताया कि अस्पताल को ठीक से संचालित करने के लिए कुशल प्रबंधकों की जरूरत होती है। हॉस्पिटल एडमीस्ट्रेशन के अफसरों की बढ़ती माँग को देखते हुए पीजीआई इससे जुड़े कोर्स शुरू करेगा।

पहले चरण में ‘डिप्लोमा इन हॉस्पिटल एडमीस्ट्रेशन’ चालू किया जाएगा। इसमें आधा दजर्न सीटें होंगी। एक साल के पाठय़क्रम में दाखिले की योग्यता एमबीबीएस तय की गई है। प्रवेश ऑल इंडिया इंट्रेस टेस्ट के माध्यम से होगा।

पाठय़क्रम शुरू करने के लिए जल्द ही फैकल्टी बोर्ड और एकेडमिक काउंसिल की बैठक होगी। दूसरे चरण में मास्टर और एमडी इन हॉस्पिटल एडमीस्ट्रेशन के पाठ्यक्रम शुरू होंगे। इनमें दो-दो सीटें होंगी। डॉ. शर्मा ने बताया कि अभी चुनिंदा प्रबंधन संस्थानों में इस तरह के रोजगारपरक कोर्स संचालित हो रहे हैं।

मास्टर व एमडी कोर्स के लिए मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) से अनुमति लेनी होगी। इस दिशा में प्रस्ताव तैयार किया जाएगा।

पाठ्यक्रम में खास

डिप्लोमा इन हॉस्पिटल एडमीस्ट्रेशन में छात्रों को कुशलतापूर्वक अस्पताल के संचालन के गुर बताए जाएँगे। इसकी पढ़ाई के बाद छात्र निदेशक जैसे महत्वपूर्ण पद का दावेदार बन सकता है।

पाठय़क्रम में ओटी, पेशेंट केयर यूनिट, ओपीडी, कम्प्यूटर सेल, रिकार्ड, डेटा मैनेजमेंट आदि की बारीकियाँ सिखाई जाएँगी।

अस्पताल के किचन व लॉन्ड्री को चाकचौबंद रखने के साथ ही निर्बाध रूप से विद्युत व्यवस्था कैसे बहाल रखी जाए। इसके बारे में भी बताया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पीजीआई तैयार करेगा प्रबंधक