class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रेड यूनियनों ने किया नए आयकर प्रस्ताव का विरोध

ट्रेड यूनियनों ने किया नए आयकर प्रस्ताव का विरोध

ट्रेड यूनियनों ने सरकार से मसौदा प्रत्यक्ष कर संहिता (डीटीसी) में सभी तरह की बचतों तथा भविष्य निधि (पीएफ) योजनाओं से पैसा निकालते समय उस पर कर लगाने के प्रस्ताव का विरोध किया है। यूनियनों ने सरकार से इस प्रस्ताव को खत्म करने की मांग करते हुए कहा है कि इससे वेतन भोगी वर्ग बुरी तरह प्रभावित होगा।

हिंद मजदूर सभा ने वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी को लिखे एक पत्र में कहा है कि यह प्रयास पीएफ से धन निकालने पर आयकर वेतनभोगी वर्ग को बुरी तरह प्रभावित करेगी, क्योंकि इससे उनकी सामाजिक सुरक्षा पर चोट पहुंचेगी। इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता। संगठन ने कहा कि इस प्रस्ताव को लागू करने से गंभीर स्थिति उत्पन्न हो जाएगी। सभा ने वित्त मंत्री से अपील की कि विवाद का एक और मोर्चा न खोला जाए।
    
अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन कांग्रेस (एटक) के सचिव डी एल सचदेव ने भी इस प्रस्ताव पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि यूनियन इस मुद्दे को सरकार के साथ उठाएगी। मसौदा डीटीसी पर सरकार ने आम लोगों की राय मांगी है। इसमें सभी तरह की बचत योजनाओं को कराधान के ईईटी दायरे में लाने की बात कही गई है। फिलहाल पीएफ में योगदान, अर्जित ब्याज तथा पीएफ से धन निकालने पर किसी तरह का ब्याज नहीं लगता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ट्रेड यूनियनों ने किया नए आयकर प्रस्ताव का विरोध