class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विधानसभा चुनाव में भाजपा ने हार स्वीकार की: बालमुचू

कांग्रेस की झारखंड इकाई के अध्यक्ष प्रदीप कुमार बालमुचू ने कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के सुप्रीमो शिबू सोरेन और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अरूण जेटली के बीच हुई कथित मुलाकात इस बात का स्पष्ट संकेत है कि राज्य विधानसभा चुनाव में भाजपा ने अपनी पराजय स्वीकार कर ली है।

बालमुचू ने कहा कि विधानसभा के पांचवें चरण का मतदान 18 दिसम्बर को होना है लेकिन भाजपा ने अभी से अपना सहयोगी तलाशना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा को यह खुलाशा करना चाहिए की उसका किन-किन दलों के साथ अनैतिक गठबंधन हुआ है। झामुमो को भी स्पष्ट करना चाहिए कि साम्प्रदायिक शक्तियों के साथ उसका क्या संबंध है।

बालमुचू ने कहा कि राज्य में पांचवें चरण के चुनाव में एक-दो सीटों पर छोड़कर भाजपा गठबंधन कही लड़ाई में भी नहीं है जबकि इस चरण में कांग्रेस गठबंधन को 12 सीटें मिलेगी। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ जो कार्रवाई हुई है उसको जनता ने सराहा है और चार चरणों के मतदान के बाद कांग्रेस गठबंधन को 37 सीटे मिल चुकी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस गठबंधन राज्य में सरकार बनाने के लिए 42 विधायकों के जादुई आकड़े से अधिक सीटे जीत कर एक स्थाई सरकार राज्य में बनाएगा।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस गठबंधन में मुख्यमंत्री कौन होगा इसका निर्णय आलाकमान तय करेगा और इस में विधायकों की भावना से भी वह अवगत होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की झारखंड में सभा पार्टी महासचिव और राहुल गांधी द्वारा युवाओं को कांग्रेस से जोड़ने के कारण पार्टी को प्रदेश में काफी लाभ मिला है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विधानसभा चुनाव में भाजपा ने हार स्वीकार की: बालमुचू