class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बसें न रुकीं तो आंदोलन कर सकते हैं छात्र

हरियाणा रोडवेज बस की सुविधा नहीं मिलने से छात्रों को बेहद परेशानी हो रही है। जबकि रोडवेज महाप्रबधंक इस मामले में ड्राइवरों व कंडक्टरों के प्रति सख्त रवैया अपनाए हुए हैं।

पिछले पंद्रह दिन में दजर्नभर से अधिक ड्राइवरों व कंडक्टरों को चाजर्शीट कर तलब किया जा चुका है। बावजूद इसके उन पर कोई असर दिखाई नहीं दे रहा है।

छात्रों के विभिन्न सगंठनों ने विभाग को चेतावनी दी है कि यदि छात्रों के लिए बस सुविधा समय पर नहीं दी गई तो उन्हें मजबूरी में आंदोलन शुरू करना पड़ेगा।

बस सुविधा न मिलने के कारण छात्र आए दिन राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाम लगा देते हैं। कई बार तो बसों में तोड़फोड़ की जा चुकी है।

छात्रों की इस समस्या के मद्देनजर महाप्रबंधक प्रदीप डागर ने पिछले दिनों होडल व पलवल से आने वाली प्रत्येक बस के ड्राइवर व कंडक्टर को सख्त आदेश दिए कि कॉलेज के समय बल्लभगढ़ आने के बाद छात्रों को कॉलेज पहुंचाए। वापसी में भी उन्हें उनकी मंजिल तक छोड़ें।

ड्राइवर व कंडक्टर इन आदेशों की परवाह नहीं करते हुए बस को बल्लभगढ़ से वापस पलवल-होडल चला रहे हैं। इस कारण छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पांच दिन पहले आधा दजर्न से अधिक बसों के ड्राइवरों व कंडक्टरों को चाजर्शीट किया गया।

उनसे जबाव तलब भी किया गया है।  शुक्रवार को भी आधा दजर्न से अधिक ड्राइवरों व कंडक्टरों की एक बार फिर शिकायत महाप्रबंधक से की गई है। सोमवार को उनके खिलाफ भी कार्रवाई हो सकती है।

महाप्रबंधक प्रदीप डागर का कहना है कि कार्रवाई के बावजूद ड्राइवर व कंडक्टरों ने अपनी कार्यशैली में सुधार नहीं किया तो उनके खिलाफ और सख्त कार्रवाई की जाएगी। छात्र देश का भविष्य है। पास के रूप में जब उनसे यात्रा के लिए एडवांस पैसे लेते हैं तो सुविधा देना रोडवेज की प्राथमिकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बसें न रुकीं तो आंदोलन कर सकते हैं छात्र