DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अपहृत आशीष की हत्या कर शव जलाने का प्रयास

दादरी में कक्षा 12 में पढऩे वाले आशीष की बदमाशों ने अपहरण कर हत्या कर दी और शव की पहचान छिपाने के लिए जलाने का प्रयास किया। हालांकि वह इरादे में सफल नहीं हो सके। पुलिस ने छात्र का शव अनाज मंडी के पीछे से अधजली अवस्था में बरामद किया है।

यह वही छात्र है जिसके संबंध में उसके पिता 8 दिसम्बर से लगातार पुलिस से शिकायत कर अपहरण का मुकदमा दर्ज कराने की गुहार लगा मदद मांग रहें थे,लेकिन पुलिस मामले को गुमशुदगी में दर्ज कर कह रही थी कि बच्चा बाप से नाराज होकर गया है। बच्चों के शव मिलने के बाद पुलिस ने चुप्पी साध ली है।

दूसरी तरफ परिजनों ने मामले में लखनऊ में पुलिस की लापरवाही मामले में एसएसपी को पार्टी बनाते हुए डीजीपी से शिकायत की बात कही है और इलाहाबाद हाईकोर्ट में भी याचिका डालने के लिए कहा है। परिजनों का आरोप है कि पुलिस अगर मामले को गंभीरता से लेती तो शायद उसके बच्चों की जान बच सकती थी।

जानकारी के अनुसार 8 दिसम्बर को दादरी शहर के मोहल्ला बागवालान में रहने वाले कुशलपाल का बेटा आशीष स्कूल के लिए निकला था,लेकिन वह स्कूल नहीं पहुंचा। शाम को जब बच्चा वापिस नहीं आया तो परिजनों ने स्कूल प्रबधंन से जानकारी मांगी पता चला बच्चा स्कूल नहीं आया।

रात भर  बच्चों की खोजबीन के बाद न मिलने के कारण परिजनों ने अपहरण की आशंका जताते हुए मामले को दर्ज करने के लिए कहा,लेकिन मौजूद डीएसपी राहुल ने मामला गुमशुदगी में दर्ज कराया।

पीड़ित परिजन प्रतिदिन थाने में आने लगे,लेकिन पुलिस ने उन्हें फटकारा और कहा कि बच्चा बालिग है वह बाप की डांट से गया है। सुबह जब कुछ लोग अनाज मंडी की तरफ शौच के लिए तभी उन्हें एक अधजला शव मिला जिसकी जानकारी रफीक नामक व्यक्ति ने पुलिस को दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने गुमशुदगी वाले बच्चों की पहचान से उसकी शिनाख्त करने की कोशिश की और परिजनों को जानकारी दी। 

छात्र के परिवार वाले जब पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे और उन्होंने लाश की पहचान आशीष के रूप में की । मामले में स्थानीय लोगों सहित परिजनो ने पुलिस की लापरवाही बताई और मामले में डीजीपी सहित कोर्ट में शरण में जाने की बात कह

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अपहृत आशीष की हत्या कर शव जलाने का प्रयास