अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लेडी सीईओ के मामले में इंडिया नंबर वन

लेडी सीईओ के मामले में इंडिया नंबर वन

देश को बधाई। भारत में महिला सीईओ यानी मुख्य कार्यकारी अधिकारियों की संख्या, अन्य देश तो छोड़ दीजिए अमेरिका से भी चार गुना ज्यादा है।

यह आंकड़े उस देश के हैं, जिसे महिला अधिकारों के मामले में कई बार बड़े देश सम्मान के साथ नहीं देखते। ईएमए पार्टनर्स इंटरनेशनल के एक सर्वेक्षण के अनुसार, करीब 11 फीसदी भारतीय कंपनियों में सीईओ की कुर्सी महिलाओं के पास है।

वहीं दूसरी ओर फार्च्यून 500 कंपनियों की सूची की बात करें, तो इसमें मात्र तीन प्रतिशत सीईओ के पद ही महिलाओं के पास हैं। सर्वेक्षण में कहा गया है कि यदि फार्च्यून 500 की सूची के हिसाब से देखा जाए, तो भारत की स्थिति कहीं बेहतर है। लेकिन यदि एकल आधार पर बात की जाए, तो यह कहा जा सकता है कि वित्तीय सेवा क्षेत्र को छोड़कर अन्य देश महिला सीईओ के मामले में काफी पीछे हैं।

वैश्विक स्तर पर शीर्ष सीईओ में मात्र 3 प्रतिशत ही महिलाएं हैं। यानी इस मामले में महिलाओं का प्रतिनिधित्व नाममात्र का है। यह आंकड़ा इसलिए और ज्यादा हैरान करने वाला है क्योकि कुल आबादी में महिलाओं की संख्या लगभग 50 प्रतिशत के आसपास है। ईएमए पार्टनर्स के अध्ययन तथा आकलन के अनुसार, जर्मनी में लगभग 25 प्रतिशत कामकाजी महिलाएं हैं, जबकि ब्रिटेन में यह आंकड़ा 30 प्रतिशत तथा फ्रांस में 35 फीसदी है। 

ईएमए पार्टनर्स इंटरनेशनल के चेयरमैन जेम्स डगलस ने कहा कि इस बात में कोई शक नहीं है कि शीर्ष पद पर पहुंचने के लिए महिलाओं को कई तरह की बाधाओं का सामना करना पड़ता है। लेकिन बाजार में जितने योग्य पुरुष हैं, उतनी ही संख्या में योग्य महिलाएं भी हैं। हमें उन्हें शीर्ष पद पर पहुंचने में मदद करनी चाहिए।
अगर क्षेत्रवार विश्लेषण किया जाए, तो भारत में आधी से ज्यादा महिला सीईओ (54 प्रतिशत) बैंकिंग और वित्तीय सेवा क्षेत्र में हैं। इसके बाद मीडिया और लाइफ साइंसेज (11 प्रतिशत) का नंबर आता है।

एफएमसीजी और परामर्शक कंपनियों में शीर्ष पद पर कार्यरत महिलाओं की संख्या आठ प्रतिशत है, जबकि विनिर्माण, आईटी और आईटीईएस प्रत्येक क्षेत्र में चार प्रतिशत कंपनियों की सीईओ महिलाएं हैं। इसके विपरीत फार्च्यून 500 की सूची में एफएमसीजी या टिकाउ उपभोक्ता सामान की 48 प्रतिशत कंपनियों में महिला सीईओ है। वहीं वित्तीय सेवा क्षेत्र में सिर्फ 7 प्रतिशत सीईओ महिलाएं हैं।

टेक्नोलॉजी तथा विनिर्माण क्षेत्र में 13 प्रतिशत कंपनियों में महिला सीईओ हैं। सर्वेक्षण में बताया गया है कि किसी अन्य उद्योग की तुलना में बैंकिंग और वित्तीय सेवा क्षेत्र में शीर्ष पद पर महिलाओं की संख्या कहीं अधिक है। निजी तथा विदेशी बैंकों में महिला सीईओ की संख्या पुरुषों की तुलना में अधिक है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लेडी सीईओ के मामले में इंडिया नंबर वन