अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दागों से सनी पड़ी है यूपी पुलिस की वर्दी

दागों से सनी पड़ी है यूपी पुलिस की वर्दी

हिरासत में मौत के मामलों में राज्यों के आंकड़े आंख खोल देने वाले हैं। सबसे ज्यादा गालियां खाने वाली जम्मू-कश्मीर पुलिस का दामन फिर भी उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र जैसे राज्यों से कहीं ज्यादा साफ-सुथरा निकला।

हिरासत में मौत के मामलों में उत्तर प्रदेश एक बार फिर शीर्ष पर है। राज्य में इस साल 232 लोगों की हिरासत में मौत हुई है। पिछले चार वर्षों में उत्तर प्रदेश में 1180 लोगों की पुलिस हिरासत में मौत हुई है। वहीं महाराष्ट्र में विगत इस चार सालों में 1184 लोगों की हिरासत में मौत हुई है।

इस प्रकार यूपी हिरासत में मौत के मामलों में लगातार दूसरे वर्ष देश में शीर्ष स्थान पर रही। इन तथ्यों का खुलासा किया है राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के आंकड़ों ने। आंकड़े बताते हैं कि देशभर में औसतन पांच से ज्यादा लोग रोजना पुलिस थानों में दम तोड़ते हैं। वहीं जम्मू-कश्मीर में हिरासत में मौत के इस साल सिर्फ तीन मामले सामने आए हैं। 2008-09 के दौरान हिरासत में मौत की महज एक घटना हुई। अंडमान निकोबार में पिछले चार वर्षों में हिरासत में मौत का सिर्फ एक मामला सामने आया है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दागों से सनी पड़ी है यूपी पुलिस की वर्दी