अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंबई हमले के कंट्रोल रूम में था हेडली

मुंबई हमले के कंट्रोल रूम में था हेडली

संदिग्ध अमेरिकी आतंकवादी डेविड कोलमैन हेडली ने न केवल मुंबई में आतंकी लक्ष्यों की जासूसी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई बल्कि वह पाकिस्तान के उस कमरे में मौजूद था, जहां से पिछले साल नवंबर में हमला करने वाले लश्करे तैयबा के 10 आतंकवादियों को उनके आका निर्देश दे रहे थे।

भारत में हेडली की गतिविधियों के जांचकर्ताओं ने फिर से सुरागों को परखने पर पाया कि उसी कमरे से प्रवेश करने तथा निकलने के लिए खास निर्देश आतंकवादियों को दिए गए। भारत ने एक व्यक्ति की उस आवाज को परखने के लिए एफबीआई से हेडली की आवाज के नमूने मांगे हैं जिसे अभी तक सुरक्षा एजेंसियां नहीं पहचान पाई हैं। इस आवाज से उन ठिकानों के आसपास की जानकारी दी गई जिन्हें लश्करे तैयबा के आतंकवादियों ने निशाना बनाया था।

सूत्रों ने दावा किया कि हेडली ने लश्करे तैयबा के मुख्य साजिशकर्ता जकीउर रहमान लखवी को कई सुझाव दिए जो मुंबई में हमला करने वाले आतंकवादियों के सम्पर्क में था। लखवी के खिलाफ इंटरपोल ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है। हेडली नौ बार भारत आया था। आठ बार 26/11 हमले से पहले और एक बार इस साल मार्च में। उसने नरीमन हाउस, ताज महल होटल, लेपोल्ड कैफे, छत्रपति शिवाजी टर्मिनल तथा ओबेराय-ट्राइडेंट होटल की टोह ली थी।

मुंबई हमलों के बाद गठित राष्ट्रीय जाचं एजेंसी (एनआईए) ने कुछ गवाहों के बयान रिकॉर्ड किए हैं जो हेडली के साथ नरीमन हाउस गए। जांचकर्ताओं को पता लगा है कि हेडली पाकिस्तान में स्वतंत्र रूप से घूमता फिरता रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुंबई हमले के कंट्रोल रूम में था हेडली