अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिड-डे-मील घटिया हुई तो कड़ी कार्रवाई : सीएम

मुख्यमंत्री मायावती ने मध्यान्ह भोजन योजना (मिड डे मील) को गुणवत्तायुक्त तथा मानक के अनुरूप चलाए जाने के निर्देश दिए है। उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर इसके कार्यान्वयन में किसी भी प्रकार की अनियमितता पाई गई तो संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने मध्यान्ह भोजन योजना के कार्यान्वयन की प्रगति की समीक्षा करते हुए कहा कि बच्चों को दिए जाने वाले भोजन की गुणवत्ता पर बराबर नजर रखी जाए। उनको पौष्टिक भोजन दिया जाए ताकि उनका शारीरिक व मानसिक विकास हो और वे मन लगाकर पढ़ाई कर सके।

उन्होंने कहा कि मानकों का अनुपालन न होने पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। समीक्षा बैठक में बताया गया कि योजना के तहत प्राथमिक स्तर पर एक करोड़ 71 लाख तथा उच्च प्राथमिक स्तर पर 41 लाख बच्चों को दोपहर का खाना दिया जा रहा है।

सफाई व भोजन को स्वच्छ वातावरण में पकाए जाने पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है। खाना गुणवत्तायुक्त न होने पर संबंधित व्यक्ति या एजेन्सी के खिलाफ कार्रवाई की जाती है।

बैठक में बताया गया कि मध्यान्ह भोजन की शिकायतों के तत्काल अनुश्रवण एवं उस पर कार्रवाई के लिए मण्डलीय सहायक शिक्षा निदेशक (बेसिक शिक्षा), जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों एवं उनके मण्डलीय -जिला समन्वयकों को सीयूजी मोबाइल फोन दिए गए हैं। योजना की सोशल आडिट की व्यवस्था के लिए प्रतिष्ठित स्वयंसेवी संस्थाओं की सेवाएँ ली जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मिड-डे-मील घटिया हुई तो कड़ी कार्रवाई : सीएम