class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्वाचल की माँग पर विधान भवन पर होगा उपवास

पूर्वाचल राज्य गठन मोर्चा ने 21 दिसम्बर से विधान भवन के सामने अलग पूर्वाचल राज्य बनाने की माँग पर क्रमिक उपवास पर बैठने का एलान किया है। मोर्चा ने पूर्वाचल राज्य के लिए मुख्यमंत्री मायावती से विधानसभा से प्रस्ताव पारित कराने की माँग की है।

मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजकुमार ओझा ने कहा कि आजादी के 62 साल बाद भी पूर्वाचल का विकास नहीं हुआ। पूर्वाचल में न बिजली है न पानी। खराब कानून व्यवस्था के कारण कोई भी उद्योगपति यहाँ उद्योग धंधा लगाने के लिए तैयार नहीं है। विकास योजनाओं के बजट आवंटन में पूर्वाचल के साथ हमेशा भेदभाव हुआ। पूर्वाचल को आर्थिक मदद को कोई पैकेज नहीं मिला।

पूर्वाचल के 27 जिलों को मिलाकर एक नया राज्य बनाया जाए। इसके लिए मोर्चा ने प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को पत्र लिखा है। राज्य सरकार पर दबाव बनाने के लिए 21 दिसम्बर से आंदोलन शुरू होगा। प्रथम चरण में सांकेतिक उपवास रखा जाएगा। इसके बाद आगे की रणनीति तैयार की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पूर्वाचल की माँग पर विधान भवन पर होगा उपवास