अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धनी देश अधिक कार्बन उत्सर्जन करें: सीआईआई

धनी देश अधिक कार्बन उत्सर्जन करें: सीआईआई

देश की एक शीर्ष औद्योगिक संस्था ने कहा है कि धनी देशों को कार्बन उत्सर्जन में अधिक कटौती करने के लिए तैयार होना चाहिए। उसके अनुसार विकासशील देशों को निम्न कार्बन उत्सर्जक अर्थव्यवस्था में रूपांतरित करने के लिए धनी देशों को वित्तीय मदद भी करनी चाहिए।


कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (सीआईआई) की ओर से रविवार को जारी एक बयान में कहा गया है, ''विकसित देशों को मध्यकालिक और दीर्घकालिक, दोनों रूपों में उत्सर्जन में अधिक कटौती के प्रति वचनबद्ध होना चाहिए और इस तरह उन्हें 199० के स्तर से 2०2० तक कार्बन उत्सर्जन में 25 प्रतिशत और 2०5० तक 8० प्रतिशत तक की कटौती करनी चाहिए।''

बयान में कहा गया है, ''भारत जैसे विकासशील देशों की अपने नागरिकों के प्रति यह जवाबदेही है कि उन्हें संयुक्त राष्ट्र मिलेनियम विकास के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए तेजी के साथ विकास करना चाहिए।''
जलवायु परिवर्तन पर सीआईआई की परिषद के अध्यक्ष जमशेद एन.गोदरेज ने कहा है, ''जलवायु परिवर्तन पर कोपेनहेगन में हो रहे शिखर सम्मेलन का निष्कर्ष समतावादी होना चाहिए और उसमें भारत जैसी विकासशील अर्थव्यवस्थाओं की जरूरतें प्रतिबिंबित होनी चाहिए, जहां आबादी के एक बड़े हिस्से तक अभी भी बिजली की पहुंच नहीं हो पाई है।''

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:धनी देश अधिक कार्बन उत्सर्जन करें: सीआईआई