DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लो अब पोलो हो गई इंडियन

लो अब पोलो हो गई इंडियन

जर्मन कार कंपनी फॉक्सवैगन ने पोलो का शनिवार से भारत में उत्पादन शुरू कर दिया। कंपनी इस कार को जनवरी में होने वाले ऑटो शो में प्रदर्शित करेगी। इस बात को ध्यान में रखते हुए फिलहाल कंपनी ने इसके दाम से लेकर इसके पॉवर का खुलासा नहीं किया है। हालांकि यह कार डीजल और पेट्रोल दोनो वजर्न में उपलब्ध होगी।

फिलहाल इस कार में 50 फीसदी हिस्से पुर्जे देसी हैं लेकिन तीन से चार साल में यह करीब 80 फीसदी देसी हो जाएगी। पुणे के निकट चाकन में बने कंपनी के इस प्लांट में नई देसी पोलो का अनावरण महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री अशोक चौहाण के साथ कंपनी के अधिकारियों ने किया। कंपनी के अनुसार इस प्लांट की क्षमता एक लाख दस हजार पोलो बनाने की है।

कंपनी की अभी भारत के कार बाजार में हिस्सेदारी काफी कम है, इसलिए शुरू में तो उत्पादन कम ही होगा लेकिन कंपनी का इरादा शीघ्र ही देश के कार बाजार में आठ से दस फीसदी हिस्सेदारी हासिल करने का है। जैसे जैसे यह हिस्सेदारी बढ़ेगी कारों का उत्पादन बढ़ता जाएगा। इसके साथ ही देसी पुर्जों के इस्तेमाल से इसके दाम को कम करने में भी कंपनी को मदद मिलेगी। कंपनी के प्रो. डा. हेजमैन के अनुसार कंपनी फिलहाल भारत के लिए उनके पास बड़े प्लान हैं। इनमें सैलून कार लाना भी एक है। यह कार कंपनी अगले छह माह के अंदर पूरा कर देगी।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लो अब पोलो हो गई इंडियन