class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वतन को मिले 518 जांबाज

शनिवार को दोपहर बारह बजे भारतीय सैन्य अकादमी ने एक भव्य पासिंग आउट परेड समारोह के बाद भारतीय सेना को 518 अधिकारी प्रदान कर दिए। 18 विदेशी कैडेट्स ने भी अपना प्रशिक्षण पूरा कर लिया। वे बतौर ऑफिसर अपने देश की सेना में शामिल होंगे।

इस मौके पर आयोजित परेड की सलामी समारोह के मुख्य अतिथि नेपाल के चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ छत्रमान सिंह गुरुंग ने ली। गुरुंग ने सेना शामिल हो रहे ऑफिसर्स से सेना की महान परम्परा को कायम रखने का  आह्वान किया।

कैडेट्स के परिजन और कई विशिष्ट अतिथि भी पासिंग आउट परेड समारोह के ऐतिहासिक क्षण के गवाह बने। भारतीय सैन्य अकादमी के चेटवुड परिसर के ड्रिल स्कवायर (परेड वाले स्थल) में जनरल छत्रमान सिंह गुरुंग ने पासिंग आउट परेड का निरीक्षण किया। इस मौके पर उनके साथ आईएमए कमांडेट लेफ्टिनेंट जनरल राजेंद्र सिंह सुजलाना और डिप्टी कमांडेंट ब्रिगेडियर ललित कुमार रामपाल भी थे। परेड की अगवानी परेड कमांडर एडजुटेंट कैडेट अभिषेक सिंह ने की।

इस मौके पर गुरुंग ने स्वार्ड ऑफ ऑनर व गोल्ड मेडलिस्ट कैडेट रवि शुक्ला को सम्मानित किया। हर्षवर्धन पाठक को सिल्वर और रोहित पंडिता को कांस्य पदक प्रदान किया गया। टैक्निकल ग्रेजुएट कोर्स के कैडेट इकबालजीत और टैक्निकल एंटरी स्कीम के कैडेट राकेश सिंह को सिल्वर मेडल से नवाजा गया।

समारोह को संबोधित करते हुए जनरल छत्रमान सिंह गुरुंग ने कहा कि आज की विश्व परिस्थितियों में सुरक्षा का सवाल सभी राष्ट्रों के लिए सबसे अहम हो गया है। इसलिए सेना में शामिल हो रहे नए अधिकारियों को इस चुनौती का मुकाबला करने के लिए हर पल तैयार रहना होगा। भारतीय सेना की परंपरा को महान और अद्वितीय बताते हुए गुरुंग ने कहा कि, युवा अफसर सेना की इस विरासत को कायम रखने के लिए समर्पित भाव से काम करें।

उन्होंने कहा कि त्याग, बलिदान, समर्पण, देशभक्ति और साहस सेना के मूल्य और आदर्श हैं। इसलिए नए सेना अधिकारियों को अपने साथियों और कनिष्ठों के लिए प्रेरणा बनना होगा। साहस और जिम्मेदारी की भावना ही महान सैनिक का निर्माण करती है। आईएमए में बिताए दिनों को याद करते हुए जनरल गुरुंग ने कहा कि अकादमी में मिले महानतम संस्कारों का असर उन पर आज भी है। उन्होंने कहा कि भारतीय सैन्य अकादमी दुनिया की सर्वश्रेष्ठ संस्थाओं में से एक है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वतन को मिले 518 जांबाज