class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मायावती की नीयत में खोट : रमापतिराम

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रमापतिराम त्रिपाठी ने प्रदेश विभाजन के मुद्दे को लेकर सीएम मायावती पर निशाना साधते हुए कहा कि उनकी नीयत ठीक नहीं है, यदि वह छोटे राज्यों की पक्षधर है तो पीएम को पत्र लिखने की बजाय वह इस प्रस्ताव को विधानसभा में रखे।

त्रिपाठी शनिवार को कस्बे में आयोजित एक शादी समारोह में हिस्सा लेने के बाद पत्रकारों से रूबरू हुए। इस दौरान उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी हमेशा छोटे राज्यों के पक्ष में रही है।

पार्टी ने सदैव चाहा है कि प्रदेश का बंटवारा राजनीतिक फायदे के लिए नहीं बल्कि जनता के फायदे के लिए होना चाहिए।

बकौल त्रिपाठी, प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती की नीयत ठीक नहीं लगती है। ऐसा लगता है कि वह जनता हित में नहीं बल्कि राजनीतिक हित में ऐसा कर रही है।

यदि मायावती भी छोटे राज्यों की पक्षधर है तो उन्हें प्रधानमंत्री को पत्र लिखने के बजाय विधानसभा में इस प्रस्ताव को रखना चाहिए था, ताकि उस पर विचार हो सके, परंतु उन्होंने ऐसा करना गवारा नहीं समझा।

उन्होंने कहा कि आए दिन महंगाई बढ़ती ही जा रही है। बीते वर्षो में प्रदेश से लगभग तीन हजार उद्यमियों ने अपने धंधे उत्तराखंड में स्थापित कर लिए।

जिससे हजारों लोग बेरोजगार हो गए। इसके बावजूद भी न तो यहां सरकार की ओर से कोई औद्योगिक इकाई का निर्माण कराया गया और न ही बेरोजगारों को रोजगार दिया गया।

इसके अलावा पार्टी ने इन्हीं तथ्यों के आधार पर बसपा के खिलाफ राज्यपाल को आरोप पत्र सौंपा है और इस चाजर्शीट को लेकर भाजपा जल्द ही जनता की अदालत में जाएगी व उसका समर्थन लेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मायावती की नीयत में खोट : रमापतिराम