DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दहशत से कई कॉलेज बंद


स्वाइन फ्लू की चपेट में अब शहर से इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट संस्थान आ चुके हैं। छात्रों के दबाव के आगे झुकते हुए छह से अधिक इंजीनियरिंग संस्थान फिलहाल बंद किए जा चुके हैं। वहीं इन संस्थानों के हॉस्टलों में रहने वाले छात्र वहां जाने से कतरा रहे हैं।

छात्रों में स्वाइन फ्लू को लेकर इस कदर दहशत है कि वह सड़क पर भी मास्क लगाकर चल रहे हैं। अब तक जिले में स्वाइन फ्लू के 65 से अधिक मामले प्रकाश में आ चुके हैं, जिनमे से 40 स्कूल व कॉलेजों के छात्र-छात्रएं हैं।

एबीईएस इंजीनियरिंग कॉलेज में स्वाइन फ्लू से एक प्रोफेसर की मौत और दो छात्रों के फ्लू की चपेट में आने के बाद प्रबंधन ने हॉस्टल बंद कर दिया था। कॉलेज के छात्रों में स्वाइन फ्लू को लेकर खौफ के मद्देनजर कॉलेज भी बंद करा दिया गया है। वहीं एकेजी इंजीनियरिंग कॉलेज की एक महिला प्रोफेसर की भी स्वाइन फ्लू से संदिग्ध मौत हो चुकी है।

यहां भी बच्चों ने स्कूल जाने से तौबा की हुई है। शनिवार को एनमैनटेक में कॉलेज बंद करने को लेकर छात्रों को हड़ताल पर उतरना पड़ा। इसके चलते मैनेजमेंट ने कॉलेज को 21 दिसंबर तक बंद कर दिया गया।

वहीं डासना फाटक के पास स्थित आईएमएस इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट कॉलेज के छह छात्रों को स्वाइन फ्लू होने की चर्चा है। कॉलेज मैनेजमेंट का कहना है कि छात्रों में स्वाइन फ्लू को लेकर खौफ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दहशत से कई कॉलेज बंद