class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिश्वत आरोपी दो की न्यायिक हिरासत बढ़ी

पक्षपातपूर्ण फैसला करने के एवज में रिश्वत लेने के आरोपी कंपनी लॉ बोर्ड के सदस्य आर वासुदेवन एवं एक मीडिया संस्थान के सचिव मनोज बंथिया को न्यायिक हिरासत अवधि समाप्त होने के बाद शनिवार को अदालत में पेश किया गया। जहां से पटियाला हाउस स्थित स्पेशल जज ओ पी सैनी की अदालत ने बोर्ड सदस्य वासुदेवन और संस्थान सचिव बंथिया की न्यायिक हिरासत अवधि 12 दिन और बढ़ाते हुए 23 दिसम्बर तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

इस मामले में लॉ बोर्ड के अधिकारी वासुदेवन को उनके दक्षिणी दिल्ली के हुड्को पैलेस स्थित सरकारी आवास से सीबीआई ने 23 नवंबर की रात रिश्वत वसूलते गिरफ्तार किया था। सीबीआई ने इस मामले में वासुदेवन और मनोज बंथिया के खिलाफ आपराधिक साजिश रचने,सरकारी कर्मचारी द्वारा रिश्वत ले कानूनी प्रक्रिया को प्रभावित करने, सरकारी कर्मचारी को रिश्वत प्रकरण की लेन-देनदारी में शामिल होना और भ्रष्टाचार अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की है। मामले के दोनों आरोपी बहरहाल न्यायिक हिरासत में जेल में हैं।

एक मीडिया संस्थान के सेक्रेटरी मनोज बंथिया को गैरकानूनीतौर से कंपनी लॉ बोर्ड के सदस्य को रिश्वत की रकम देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। सीबीआई ने अदालत को बताया कि अरोपियों की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली, कलकता और चेन्नई में सात स्थानों पर छापे मार 55 लाख रुपये बरामद किए हैं जिनमें से 7 लाख रुपये वासुदेवन के आवास से व 3 लाख रुपये मनोज के दिल्ली स्थित होटल रुम से बरामद किए गए हैं। इस मामले में वासुदेवन की जमानत याचिका को अदालत पहले ही खारिज कर चुकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रिश्वत आरोपी दो की न्यायिक हिरासत बढ़ी