class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शासन नहीं चला पा रही हैं तो मायावती इस्तीफा दें लेकिन यूपी को न बाँटें- सपा

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और विधान सभा में नेता विरोधी दल शिवपाल सिंह यादव ने मुख्यमंत्री मायावती पर यूपी को जबरिया बाँटने की साजिश रचने का आरोप लगाते हुए उनसे इस्तीफे की माँग की है।

शनिवार को यहाँ जारी एक बयान में श्री यादव ने कहा कि यूपी के विभाजन की मांग तो जनता ने कभी की ही नहीं बल्कि खुद मुख्यमंत्री ही इसे तीन राज्यों में बाँटने की बात कर रही हैं।

बयान में कहा गया है कि अगर मुख्यमंत्री मायावती प्रदेश का शासन चला पाने में अपने का असमर्थ पाती हैं तो उन्हें तत्काल इस्तीफा दे देना चाहिए। श्री यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री ने कभी अपनी बात पर ईमानदारी नहीं दिखाई बल्कि बुन्देलखण्ड के लिए वे केन्द्र को चिट्ठियां लिखकर बस राहत पैकेज ही माँगती रही हैं।

पूर्वाचल पर उन्होंने कभी ध्यान नहीं दिया। प्रदेश के विकास के नाम पर वे बस पार्को, स्मारकों के निर्माण, अपनी प्रतिमाओं की स्थापना और किसानों को उजाड़कर पूँजीपतियों को राहत देने का ही काम करती रहीं। अफसरशाही के साथ साठगाँठ करके बसपा के मंत्री और विधायक भी अपनी मुख्यमंत्री की ही राह पर चल रहे हैं।

मिलावटखोरों अैर जमाखोरों को संरक्षण दे रहे हैं। महँगाई से आम जनता को राहत देने में उनकी कोई रूचि नहीं है, नौजवानों को रोजगार देने की कोई योजना नहीं है। ऐसे में यूपी के विभाजन की बयानबाजी के बहाने वस्तुत: कुछ तत्व अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने में लगे हुए हैं और वे इस तथ्य की अनदेखी कर रहे हैं कि छोटे-छोटे राज्यों के बनने से समस्याओं का समाधान नहीं होता बल्कि समस्याएं बढ़ती ही हैं।

श्री यादव ने अपने इस बयान में आगे कहा है कि समाजवादी पार्टी राज्य के संतुलित विकास की पक्षधर रही है, विभाजन की नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मायावती इस्तीफा दें लेकिन यूपी को न बाँटें- सपा