अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंतत: दुविधा से बाहर निकले नीरज शेखर, पार्टी के प्रति जतायी पूरी आस्था

मएलसी चुनाव की घोषणा से पहले से ही पार्टी व परिवार की दुविधा में फंसे सपा सांसद नीरज शेखर ‘नेताजी’ से मुलाकात के बाद काफी ‘हल्का’ महसूस करने लगे हैं। पार्टी के प्रति पूरी आस्था जताते हुए उन्होंने कहा है कि, सपा व नेताजी की बदौलत मुझे काफी सम्मान मिला है। पार्टी व नेताजी ने रामधीर सिंह को प्रत्याशी बनाया है। मैं उनकी जीत के लिए काम करूंगा।

शनिवार को चंद्रशेखर नगर स्थित ‘झोपड़ी’ पर ‘हिन्दुस्तान’ से बातचीत में नीरज शेखर ने कहा कि हां, काफी हद तक दुविधा खत्म हो गयी है। नेताजी से मुलाकात के दौरान क्या बातें हुईं? इस सवाल पर नीरज ने कुछ नहीं बताया, लेकिन इतना जरूर कहा कि वह पूरी तरह से पार्टी के साथ हैं।

उल्लेखनीय है कि, एमएलसी के लिए प्रत्याशी के मुद्दे पर सपा सांसद नीरज शेखर ने पिछले दिनों बगावती तेवर अख्तियार कर लिया था। एक ओर जहां पार्टी के स्थानीय नेता कलेक्ट्रेट परिसर में आयोजित धरना सभा में रामधीर सिंह को प्रत्याशी बनाये जाने की घोषणा कर रहे थे, तो वहीं दूसरी ओर नीरज शेखर झोपड़ी में विधान परिषद सदस्य रविशंकर सिंह ‘पप्पू’ की बैठक में मौजूद थे।

प्रत्याशी के विषय पर उन्होंने तब कहा था कि, इस सम्बंध में वह ‘नेताजी’ से वार्ता के बाद ही अपनी स्थिति स्पष्ट करेंगे। तब उन्होंने बातचीत में स्वीकार भी किया था कि, वह परिवार व पार्टी के बीच उलझे हैं। शुक्रवार को पार्टी कार्यालय पर पत्रकारों से बातचीत में नीरज ने पुराने गिले-शिकवों को दूर करते हुए कहा कि, मैं सपा में हूं और हमेशा सपा के लिए कार्य करता रहूंगा।

उन्होंने कहा कि, नेताजी ने रामधीर सिंह को एमएलसी का प्रत्याशी बनाया है। मैं उनकी जीत के लिए काम करूंगा। एमएलसी चुनाव में समय नहीं देने को लेकर भी उन्होंने अपनी स्थिति स्पष्ट की और कहा कि, चूंकि संसद का सत्र चल रहा है, लिहाजा वह चाहकर भी बलिया नहीं रह पायेंगे। हां, उन्होंने पार्टी र्कायकर्ताओं व एमएलसी मतदाताओं से पार्टी प्रत्याशी रामधीर सिंह के लिए समर्थन जरूर मांगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अंतत: दुविधा से बाहर निकले नीरज शेखर