DA Image
22 जनवरी, 2020|7:43|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माओवादी हमले में महिला पत्रकार घायल

उत्तराखंड के धारचूला से सटे नेपाल के सीमावर्ती क्षेत्र रुकुम में अपने खिलाफ लेख लिखने वाली एक मिहला पत्रकार को नेपाली माआवादियों ने ब्लेड से बुरी तरह घायल करने की सनसनीखेज घटना सामने आई है। भारत-नेपाल सीमा पर तैनात भारतीय खुफिया विभाग के एक विरष्ठ अधिकारी ने अपना नाम प्रकाशित नहीं करने की शर्त पर बताया कि राज्य के पिथौरागढ़ जनपद अंर्तगत नेपाल, चीन, तिब्बत सीमा स्थित धारचूला क्षेत्र से सटे नेपाल के रुकुम जनपद मुख्यालय में नेपाली माओवादियों के एक दस्ते ने अपने विरुद्ध लेख प्रकाशित करने के आरोप में महिहला पत्रकार कुमारी टीका बिष्ट को बुधवार के दिन घेर कर धारदार ब्लेड से उसके शरीर को घायल कर दिया। रुकुमजिंला मुख्यालय में पुलिस चौकी के समीप की घटना होने के बावजूद वहां मौजूद सैकडों लोगों में से कोई भी माओवादियों के भय के कारण इस महिला पत्रकार को बचाने अथवा पुलिस को सूचना देने का साहस नहीं जुटा सका।

खुफिया अधिकारी ने बताया कि आधा घंटा तक महिला पत्रकार के शरीर पर सैकड़ों जगह ब्लेड से वार करने के कारण वह चिल्लाती रही लेकिन माओवादियों ने उसे अधमरा कर वहीं फेंक दिया और बेखौफ होकर चले गए। बाद में लोगों ने महिला पत्रकार को रुकुम स्थित जिला अस्पताल में भर्ती कराया। नेपाली पत्रकार महासंघ ने धारचूला में एक सभा कर गहरा आक्रोश व्यक्त करते हुए घटना की व्यापक निंदा की है।

खुफिया अधिकारी ने बताया कि इस घटना से केन्द्र सरकार को अवगत करा दिया गया है। गत सप्ताह भी राज्य के उधम सिंह नगर अंतर्गत खटीमा से सटे नेपाली जनपद कैलाली में माओवादियों ने एक दर्जन वाहन आग के हवाले कर दिए थे। माओवादियों से पुलिस की झड़प मे एक पुलिसकर्मी सहित पांच लोगों की मौत हो गई थी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:माओवादी हमले में महिला पत्रकार घायल