class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मृतक को जीवित करने के लिए हुई पूजा !

धार्मिक कर्मकांड से मृत को जीवित करना भले ही किस्से और कहानियों की बात हो लेकिन बिहार की एक महिला ने इसे हकीकत बनाने की कोशिश की। यह महिला ने गोलीबारी में मारे गए बेटे को 'जिंदा' करने के लिए पूजा-पाठ करने लगी जिस वजह से पोस्टमार्टम में भी विलंब हुआ।

यह घटना नालंदा जिले के दीपनगर थाना क्षेत्र के सीपहा गांव की है। पुलिस ने बताया कि शुक्रवार देर रात इस गांव के निवासी दयानंद प्रसाद के 15 वर्षीय पुत्र विनय कुमार की अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। शनिवार को गांव की ही एक नदी के किनारे विनय का शव बरामद किया गया। पुलिस के मौके पर पहुंचने से पहले विनय के परिजन शव को अपने घर ले आए और उसे एक पलंग पर रखकर पूजा-पाठ करने लगे।

नालंदा के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी परवेज अख्तर ने कहा,''पुलिस को बिना बताए शव को परिजनों ने उठा लिया तथा विनय की मां ने पुत्र को जिंदा कर देने की बात कही। विनय की मां का कहना था कि वह शिव भक्त है और भगवान उसके पुत्र को जिंदा कर देंगे।''

अख्तर ने कहा कि पुलिस ने बाद में शव को कब्जे में ले लिया जिसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। इस मामले की जांच आरंभ कर दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मृतक को जीवित करने के लिए हुई पूजा !