class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुश को धमकाने के लिए आईआईटी के पूर्व छात्र को कैद

बुश को धमकाने के लिए आईआईटी के पूर्व छात्र को कैद

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) के पूर्व छात्र विक्रम बुद्धि को वर्ष 2006 में तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति जार्ज डब्ल्यू बुश को धमकी भरा संदेश भेजने के मामले में चार साल नौ महीने कैद की सजा सुनाई गई है। अदालत ने फैसले में यह भी कहा कि रिहाई के बाद उसे तीन साल तक निगरानी में रहना होगा।

2006 में गिरफ्तार किए गए बुद्धि को वरिष्ठ न्यायाधीश जेम्स टी मूडी ने सजा सुनाई। बुद्धि को बुश, तत्कालीन उपराष्ट्रपति डिक चेनी और उनकी पत्नियों को धमकी देने और अमेरिकी प्रतिष्ठानों पर बम हमले करने की धमकी देने के मामले में दोषी ठहराये जाने के बाद सजा सुनाई गई।

अदालत ने कहा कि परडयू विश्वविद्यालय के पीएचडी के छात्र बुद्धि को रिहा होने के बाद तीन साल का वक्त प्रोबेशन अधिकारी की निगरानी में गुजारना होगा।

बुद्धि को दस दिन के भीतर शिकागो अदालत में सजा के खिलाफ अपील करने का वक्त दिया गया है। बुद्धि अप्रैल 2006 से जेल में बंद है इसलिए उसकी सजा की अवधि में कटौती हो सकती है।

बुद्धि ने अपने वकील को पैरवी से हटाने के बाद खुद ही अपनी पैरवी की। उसने दावा किया था कि उनका मुकदमा निष्पक्ष नहीं रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बुश को धमकाने के लिए पूर्व आईआईटी छात्र को कैद