class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़क से ब्लू लाइन हुईं नदारद

सड़क से धीरे-धीरे ब्लू लाइन बसों के हटने का असर शुक्रवार को शहर की सड़कों पर नजर आया। नोएडा से दिल्ली रूट पर चलने के लिए 50 से कम बसें सड़कों पर उतरीं। डीटीसी व रोडवेज बसें चलने के बाद भी वाहनों की संख्या में कमी होने से यात्रियों को दिल्ली जाने के लिए घंटों इंतजार करना पड़ा। जिसका असर सेक्टर-62 से रजनीगंधा तक जाने वाले यात्रियों पर सर्वाधिक नजर आया। बस व मेट्रो स्टेशन पहुंचने के लिए किसी ने ऑटो व प्राइवेट बस का सहारा लेना पड़ा।


गुरुवार को ब्लू लाइन की करीब 20 फीसदी बसें सड़कों पर उतरीं। बसों पर रोक लगने के बाद डीटीसी व रोडवेज बसें यात्राियों की जरूरतों को पूरा नहीं कर पा रहे हैं। कहने को तो डीटीसी ने नोएडा रूट पर 250 बसें उतारी हैं, लेकिन इनकी सर्विस उन रूट पर कम है, जिसमें दैनिक यात्राियों की संख्या अधिक रहती है।


मॉडल टाउन चौकी से खचाखच भरकर चलीं प्राइवेट बसें : मॉडल टाउन चौकी से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन, आनंद विहार, नेहरू प्लेस व भजनपुरा जाने वाले यात्रियों की परेशानी बढ़ी नजर आई। इन रूट की बसें व मेट्रो पकड़ने के लिए उन्हें ऑटो व प्राइवेट बसों का सहारा लेना पड़ा। जिसके चलते


गाजियाबाद की बसें ठसाठस भरकर शहर की सड़कों पर दौड़ीं। दिल्ली रूट पर आज से चलेंगी चार सौ बसें : डीटीसी की 250 बसों के साथ रोडवेज की डेढ़ सौ बसें भी नोएडा दिल्ली रूट पर चलेंगी। शुक्रवार को दिल्ली रूट पर रोडवेज की 66 बसें चलीं। रोडवेज के आरएम पीआर बेलवारियर ने बताया कि शनिवार से 84 बसें सड़क पर उतार दी जाएंगी, जिसका लाभ नोएडा के साथ-साथ दिल्लीवासियों को भी मिलेगा।


डीटीसी लो फ्लोर बसों से मिलेगी राहत : हफ्ते भर के अंदर डीटीसी की 20 और लो फ्लोर बसों के आने की संभावना है। वर्तमान समय में रूट नंबर 8, 33, 34, 392 व 347 की बसें नोएडा से दिल्ली रूट पर चल रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सड़क से ब्लू लाइन हुईं नदारद