class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चोरी के खुलासे की मांग को लेकर प्रदर्शन

करीब डेढ़ माह पूर्व लोक निर्माण विभाग के कर्मचारी के घर से हुई चोरी के खुलासे की मांग को लेकर उत्तराखंड फेडरेशन ऑफ मिनिस्ट्रीयल सर्विसेज से जुड़े कर्मचारियों ने पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया। बाद में कोतवाल का घेराव कर चोरी के जल्द खुलासे की मांग की। साथ ही मुख्यमंत्री से भी कार्यवाही की मांग की है।


मोहल्ला कविनगर निवासी लोनिवि कर्मी ओमपाल सिंह के घर से चोरों ने 29 अक्तूबर की रात बारह तोले सोने के जेवरात व 80 हजार रुपये की नकदी उड़ा ली। गृहस्वामी परिवार समेत शाम को एक विवाह समारोह में शामिल होने जसपुर गए थे। देर रात जब वह वापस लौटे तो उन्हें चोरी की जानकारी मिली। पुलिस ने मामले की रिपोर्ट दर्ज कर ली। करीब डेढ़ माह बाद भी चोरी का खुलासा न होने से लोनिवि कर्मियों में खासी नारजागी है। शुक्रवार को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार फेडरेशन ऑफ मिनिस्ट्रीयल सर्विसेज से जुड़े लोनिवि कर्मियों ने अधिशासी अभियंता कार्यालय परिसर बैठक की और चोरी का खुलासा न होने पर काशीपुर पुलिस की कड़े शब्दों में निंदा की।
इसके बाद प्रांतीय संगठन मंत्री चारू पंत के नेतृत्व में कर्मचारियों ने तहसील पहुंच कर पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया और तहसीलदार डीपी सिंह के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेज कर मामले के शीघ्र खुलासे की मांग की। बाद में गुस्साये कर्मचारी सीधे कोतवाली पहुंचे और पुलिस पर निष्क्रिता बरतने का आरोप लगाते हुए पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन्होंने वार्ता के लिए पहुंचे कोतवाल आरएस असवाल का घेराव कर चोरी के शीघ्र खुलासे की मांग की।


कोतवाल ने बताया कि चोरी के खुलासे के लिए पुलिस पूरा प्रयास कर रही है। प्रदर्शन कर कोतवाल का घेराव करने वालों में संगठन के जिलाध्यक्ष एमएम पंत, महामंत्री घनश्याम कांडपाल, चंडीप्रसाद बबाड़ी, नरेंद्र मोहन जोशी, राकेश शर्मा, संजय जोशी, पुरुषोत्तम आर्या, सत्येंद्र रावत, महेश चंद्र उप्रेती, डीडी जोशी, मुकंद राम वर्मा, सुखदास आदि शामिल रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चोरी के खुलासे की मांग को लेकर प्रदर्शन