class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तेलंगना के विरोध में विजयवाड़ा के सांसद करेंगे आमरण अनशन

पृथक तेलंगाना राज्य की मांग स्वीकार किए जाने के खिलाफ इस्तीफा दे चुके विजयवाड़ा से लोकसभा के सांसद लगदपति राजगोपाल आंध्र प्रदेश के विभाजन के विरोध में आमरण अनशन करेंगे। उनके निकटवर्ती सूत्रों ने बताया कि राजगोपाल एक-दो दिन के भीतर हैदराबाद या विजयवाड़ा में आमरण अनशन करेंगे। सांसद के एक सहयोगी ने बताया कि इस संबंध में जरूरी इंतजाम किए जा रहे हैं।

इस बीच आन्ध्र प्रदेश विधान परिषद के सदस्य और पूर्व मुख्यमंत्री वाई एस राजशेखर रेडडी के भाई वाई एस विवेकानंद रेडडी ने भी ऐलान किया है कि यदि कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश को विभाजित करने के अपने फैसले पर पुनर्विचार नहीं किया तो वह भी अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठेंगे। विवेकानंद ने यहां कहा कि वाईएसआर हमेशा से अखंडित आंध्र प्रदेश चाहते थे। कांग्रेस आला कमान के फैसले से रायलसीमा के लोगों को बहुत चोट पहुंची है।

इस बीच के रोसैया सरकार में आंध्र और रायलसीमा क्षेत्रों के कुछ मंत्रियों ने अपने पदों से इस्तीफा देने का फैसला किया है क्योंकि उनपर उनके चुनाव क्षेत्रों से दबाव लगातार बढ़ता जा रहा है। इस्तीफा देने को तैयार मंत्रियों में मोपीदेवी वेंकट रामन राव (तकनीकी शिक्षा), के पार्थसारथी (पशुपालन), पेडिडरेडडी रामाचंद्र रेडडी (वन), शिल्पा मोहन रेडडी (आवास) और पी बालाराजू (जनजाति कल्याण) शामिल हैं ।
    
ऐसी खबर है कि इन मंत्रियों ने यहां सचिवालय में भेंट की और अपने पद छोड़ने का फैसला किया। इनमें से किसी भी नेता से संपर्क नहीं हो पाया। हालांकि कुछ अन्य मंत्रियों पर भी पद छोड़ने के लिए दबाव है, लेकिन उनकी तरफ से अभी ऐसा कोई संकेत नहीं आया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तेलंगना के विरोध में विजयवाड़ा के सांसद करेंगे आमरण अनशन