class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माह के अंत तक करने हैं अग्निशमन के इंतजाम

बेसिक शिक्षा विभाग ने स्कूलों को 30 दिसम्बर तक अग्निशमन के इंतजाम करने के आदेश तो जारी कर दिए हैं। लेकिन अधिकांश स्कूलों में विकास मद की राशि स्कूल के रखरखाव में खर्च हो चुकी है। जिससे स्कूलों के सामने आग से बचाव के जरूरी उपकरण खरीदने के लिए फंड की कमी सताने लगी है। आलम है कि स्कूलों को रखरखाव खाते के अलावा बच्चों के क्रीड़ा फंड से अग्निशमन के इंतजाम करने पड़ रहे हैं।


बेसिक शिक्षा विभाग ने 1218 स्कूलों के हेड मास्टर व प्रधान अध्यापकों को 30 दिसम्बर तक स्कूल में अग्निशमन के जरूरी इंतजाम करने के आदेश दिए थे। वहीं स्कूलों को विकास मद की राशि में से 3900 रुपए आग से बचाव के उपकरण के लिए व्यय करने हैं। लेकिन अधिकांश स्कूलों में विकास खाते की राशि स्कूल के रखरखाव में खर्च हो जाने के चलते स्कूलों के पास फंड नहीं बचा है। प्राइमरी स्कूलों को अपने अन्य खातों से अग्निशमन के इंतजाम करने पड़ रहे हैं।

क्या कहते हैं स्कूल वाले
प्राथमिक पाठशाला, नासिर पुर प्रथम, नगर क्षेत्र की इंचार्ज सोनिया वर्मा ने बताया कि विभाग की ओर से स्कूल को जल्द से जल्द अग्निशमन के इंतजाम करने को कहा गया है। स्कूलों को इसका व्यय रखरखाव खाते से करना है। मगर स्कूल द्वारा नई कुर्सियां, मेज व स्कूल की मरम्मत के कार्य में खाते से पैसा पहले ही खर्च हो चुका है। अब स्कूलों के सामने फंड की कमी खड़ी हो गई है। विभाग के निर्देश पर स्कूल को विकास व क्रीड़ा खाते से अग्निशमन के उपकरण खरीदने पड़ रहे हैं। यह हालत इसी स्कूल की नहीं बल्कि अधिकतर स्कूलों की है।

क्या कहते हैं अफसर
बीएसए राजेश कुमार श्रीवास कहते हैं कि स्कूलों को रखरखाव खाता से 3900 रुपए लेकर अग्निशमन के इंतजाम करने को कहा गया है। जिन स्कूलों में रखरखाव खाता की राशि व्यय हो चुकी है, उन्हें अलग से फंड मुहैया करा दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:माह के अंत तक करने हैं अग्निशमन के इंतजाम