अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सैकड़ों कैदियों की रिहाई का रास्ता साफ

- पुलिस, प्रोबेशन,जेल की ‘हां’ तो रिहाई तय
- लखनऊ मीटिंग में कसे गए अफसरों के पेंच
- शाम तक सभी जिलों से मांगी पुलिस रिपोर्ट


मुक्ति की आस

अनुपम : कत्ल का मुजरिम, 21 साल की सजा काट चुका
लक्ष्मण : कत्ल किया था, 19 बरस से कैद है सलाखों में
विक्रम : कत्ल में सजा हुई, अब उम्र अस्सी साल से ज्यादा
फकीरा : कत्ल का कैदी, 76 की उम्र, तबियत बहुत खराब


 अच्छा चाल-चलन, बीमारी या उम्र का अंतिम पड़ाव, इस पैमाने पर पास होने वाले सैकड़ों कैदियों की जेलों से मुक्ति का रास्ता साफ हो गया है। पुलिस, प्रोबेशन और जेल प्रशासन जिन बंदियों की रिहाई को पर हां बोल देंगे, शासन उनको आजाद कर देगा। प्रदेश में 918 कैदियों को इस तरह से छोड़े जाने पर विचार हो रहा है। अफसरों का कहना है, इनमें से आधे कैदी रिहाई की ‘परीक्षा’ पास कर लेंगे।
शासन ने सभी जिलों के अफसरों की गुरुवार को लखनऊ में बैठक बुलाई थी, जिसमें बूढ़े, बीमार और अच्छे चरित्र के बंदियों को छोड़े जाने पर सहमति बन गई। प्रमुख सचिव ने शुक्रवार शाम तक सभी जगहों से पुलिस और प्रोबेशन विभाग की रिपोर्ट भेजने की हिदायत दी थी। दिन भर पूरा अमला इस काम में जुटा रहा।
लखनऊ मीटिंग में भाग लेकर लौटे एडीएम सिटी एसके श्रीवास्तव ने बताया कि कैदियों की प्रस्तावित रिहाई से जुड़े गाजियाबाद के 28 मामले हैं जो इनमें मर्सी अपील, फार्म ए और दयनीय स्थति से जुड़े हैं। पूरे प्रदेश में ऐसे मामलों की संख्या 918 है। गाजियाबाद से सम्बंधित कुछ कैदी आगरा, बरेली और ऊधमसिंह नगर की जेलों में हैं। मसलन, डासना जेल में हत्या के मामले में कैद अनुपम 21 बरस से ज्यादा की सजा काट चुका है। लक्ष्मण की कैद 18 बरस से  ऊपर हो चुकी है। विक्रम कत्ल में सजा काट रहा और उसकी उम्र अब अस्सी साल से ऊपर है। फकीरा भी कत्ल का मुजरिम है और अब 76 साल का है। बीमार भी है। एक परिवार दहेज के मामले में बंद है और सजा की अवधि में इन लोगों का चाल-चलन अच्छा रहा है। पुलिस ने कुछ कैदियों की रिहाई को एनओसी दे दी है मगर कुछ की रिहाई का विरोध भी कर रही है। इसे देखते हुए लगता है कि  हमारे यहां के आधे कैदी ही रिहाई पा सकेंगे! हालांकि अंतिम फैसला शासन को ही लेना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सैकड़ों कैदियों की रिहाई का रास्ता साफ