class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बंबई स्टाक एक्सचेंज में 70.28 अंक की गिरावट

बंबई स्टाक एक्सचेंज में 70.28 अंक की गिरावट

उत्साहजनक औद्योगिक वृद्धि दर के आंकड़े आने के बावजूद मुनाफा वसूली से बंबई स्टाक एक्सचेंज शुक्रवार को 70.28 अंक की गिरावट के साथ 17,119.03 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह, नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 5,182.55 अंक की ऊंचाई तक जाने के बाद 17.35 अंक की गिरावट के साथ 5,117.30 अंक पर बंद हुआ।
   
बाजार विश्लेषकों ने कहा कि अक्टूबर में 10.3 फीसदी की औद्योगिक वृद्धि दर बाजार के अनुमान से कम थी। बाजार को आर्थिक वृद्धि दर की तरह ही आईआईपी के आंकड़े आने की उम्मीद थी। रीयल एस्टेट और वित्तीय कंपनियों जैसे ब्याज दर से जुड़े क्षेत्रों और एफएमसीजी के शेयर शुक्रवार को सबसे अधिक नुकसान में रहे।

जियोजित बीएनपी परिबा फिनांशल सर्विसेज के अनुसंधान प्रमुख एलेक्स मैथ्यू ने कहा कि निवेशक आईआईपी आंकडों को लेकर निराश दिखे, अगले दो-तीन दिनों में बाजार उताऱ-चढ़ाव से भरा रहेगा और बाजार में गिरावट का रूख बना रह सकता है। बीएसई सेंसेक्स में शामिल 30 शेयरों में 23 कंपनियों के शेयर गिरावट के साथ बंद हुए, जबकि सात शेयर लाभ के साथ बंद होने में कामयाब रहे।

वहीं दूसरी ओर, कैपिटल गुडस, बिजली और आटो क्षेत्र के शेयरों में लिवाली देखने को मिली। एशियाई बाजारों में सुधार और यूरोपीय बाजारों के उंचा खुलने से बाजार को थोड़ा समर्थन मिला। शुक्रवार को सबसे अधिक झटका बैंकिंग क्षेत्र के शेयरों को लगा जिससे इसका सूचकांक 1.22 फीसदी घटकर 10,106.17 अंक पर आ गया। वहीं रीयल्टी इंडेक्स 0.94 फीसद गिरावट के साथ 3,922.62 अंक पर बंद हुआ।

शुक्रवार को गिरावट दर्ज करने वाले शेयरों में भारती एयरटेल 3.21 फीसदी और आरकाम 1.10 फीसदी गिरावट के साथ बंद हुआ। वहीं दूसरी ओर, भेल ने 3.12 फीसदी की बढ़त दर्ज की। ब्रोकरों ने कहा कि स्माल कैप और मिड कैप शेयर मुनाफा वसूली के शिकार हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बंबई स्टाक एक्सचेंज में 70.28 अंक की गिरावट