class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जसवंत ने शुरू की गोरखालैण्ड के लिए बल्लेबाजी

जसवंत ने शुरू की गोरखालैण्ड के लिए बल्लेबाजी

दार्जिलिंग के सांसद जसवंत सिंह ने शुक्रवार को अलग गोरखालैण्ड राज्य की मांग को न्यायोचित ठहराते हुए कहा कि सरकार को समय से इसकी प्रासंगिकता और वैधता को स्वीकार करना चाहिए। संसद परिसर में सिंह ने कहा कि मेरा विचार स्पष्ट है। यह न्यायोचित मांग है। इसे समय पर और ठीक ढंग से पूरा किया जाना चाहिए।

उनकी यह टिप्पणी गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के अलग राज्य की मांग के समर्थन में 14 दिसंबर को दार्जिलिंग पहाड़ी क्षेत्र में बंद का आयोजन करने की पृष्ठभूमि में सामने आई है। बंद का आयोजन तेलंगाना मुद्दे से जुड़े घटनाक्रम के बाद आयोजित की जा रही है।
   
भाजपा से निष्कासित नेता ने कहा कि यह तेलंगाना से पुरानी मांग है और यह मांग सबसे पहले 1907 में उठायी गयी थी। सरकार के लिए जरूरी है कि वह इसकी प्रासंगिकता, वैधता को समझे और न्यायोचित मांग को मान्यता प्रदान करे। जसवंत सिंह ने आगे कहा कि ऐसे मांगों को समय पर पूरा किया जाना चाहिए ताकि विरोध प्रदर्शन से बचा जा सके। उन्होंने कहा कि अगर ऐसे मांग को समय पर पूरा किया जाता है तो कहीं भी विरोध प्रदर्शन नहीं होंगे।

इससे पहले गुरुवार को जीजेएम के महासचिव रोशन गिरि ने कहा था कि वह पश्चिम बंगाल से अलग राज्य के गठन के लिए पहाड़ी क्षेत्र में 14 दिसंबर से तीन दिनों के बंद का आयोजन करेंगे। उन्होंने कहा था कि यह मांग 102 वर्ष से भी अधिक पुरानी है। जीजेएम के अध्यक्ष विमल गुरूंग ने कहा था कि बंद के अलावा दार्जिलिंग, कर्सियांग, कलिमपांग के अलावा सिलिगुड़ी में जीजेएम के कार्यकर्ता 21 दिसंबर से आमरण अनशन करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जसवंत ने शुरू की गोरखालैण्ड के लिए बल्लेबाजी