class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केन्द्रीय पूल में 2.55 लाख टन धान का योगदान दिया

हरियाणा की मंडियों में कल तक 45.24 लाख टन से अधिक धान की आवक हुई। और राज्य ने केन्द्रीय पूल में 2.53 लाख टन धान का योगदान दिया है।

पिछले साल इसी अवधि के दौरान कुल 43.03 लाख टन धान की आवक हुई थी राज्य ने केन्द्रीय पूल में अब तक 2.55 लाख टन से अधिक चावल का योगदान दिया है खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री महेन्द्र प्रताप सिंह ने आज  बताया कि राज्य सरकार की किसान हितैषी नीतियों और किसानों की मेहनत के कारण ही धान का अधिक उत्पादन सम्भव हुआ है राज्य सरकार ने किसानों को समय पर नलकूपोंके लिए पर्याप्त बिजली और गुणवापरक कृषि आदानों की आपूर्ति की सिंह ने कहा कि मंडियो में आया धान सरकारी खरीद एजेन्सियों और मिल मालिकों और व्यापारियों ने खरीदा। सरकारी एजेंसियों ने 26.29 लाख टन से अधिक तथा मिल मालिकों और व्यापारियों ने 18.93 लाख टन से अधिक धान की खरीद की।

 उन्होंने बताया कि हैफेड ने 10.38 लाख टन से अधिक धान की खरीद की। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने 9.45 लाख टन से अधिक, कृषि उद्योग निगम ने 2.77 लाख टन, कॉन्फैड ने 2.35 लाख टन, हरियाणा भाण्डागार निगम ने 89689 टन और भारतीय खाद्य निगम ने 42761 टन धान की खरीद की जिला कुरूक्षेत्र 9.39 लाख टन से अधिक धान आवक के साथ राज्य में अग्रणी है तथा जिला करनाल में 7.51 लाख टन से अधिक धान की आवक हुई

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: केन्द्रीय पूल में 2.55 लाख टन धान का योगदान दिया