DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपीएल, चैम्पियंस लीग के लिए अलग विंडो की जरूरत

आईपीएल, चैम्पियंस लीग के लिए अलग विंडो की जरूरत

दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड क्रिकेटर संघों का मानना है कि इंडियन प्रीमियर लीग और चैम्पियंस लीग के लिए अलग विंडो की जरूरत है लेकिन इन टी-20 लीग को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से प्रतिस्पर्धा करने की बजाय साथ रहना चाहिए।

दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट संघ के सीईओ टोनी आयरिश ने कहा कि आईपीएल और चैम्पियंस लीग के लिए विंडो की जरूरत है लेकिन उन्हें इस विंडो से बाहर नहीं जाना चाहिए। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट, आईपीएल और चैम्पियंस लीग को एक दूसरे से प्रतिस्पर्धा नहीं करनी चाहिए। खिलाडि़यों के लिए ऐसी नौबत नहीं आनी चाहिए कि उन्हें एक का चयन करना पड़े।

न्यूजीलैंड क्रिकेट प्लेयर्स एसोसिएशन के सीईओ हीथ मिल्स ने कहा कि टी-20 टूर्नामेंटों के लिये विंडो देते समय यह ध्यान देना होगा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की उपेक्षा न हो। आईपीएल और चैम्पियंस लीग के लिए विंडो देना बहुत जरूरी है। यदि ऐसा नहीं हुआ तो मुझे यकीन है कि हमारे सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी केंद्रीय अनुबंध नहीं करेंगे ताकि वे आईपीएल खेल सकें।

मिल्स ने कहा कि यदि ऐसा होता है तो इससे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का महत्व कम होगा क्योंकि सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी उपलब्ध ही नहीं होंगे। आईसीसी अध्यक्ष डेविड मोर्गन ने संकेत दिया है कि 2012 के बाद फ्यूचर टूर कार्यक्रम से छह साल के भीतर अपनी धरती और विदेश में श्रृंखलाएं खेलने की बाध्यता हटाई जा सकती है ताकि खिलाडि़यों की थकान का मसला हल हो जाए। लेकिन न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर संघों का मानना है कि इससे समस्या हल नहीं होगी और आईसीसी को टेस्ट तथा वनडे के लिए उचित चैम्पियनशिप पर ध्यान देना चाहिए।

आयरिश ने कहा कि इस बाध्यता को हटाने से क्रिकेट मैचों की संख्या पर तो नियंत्रण हो जाएगा लेकिन छोटे देश और कमजोर हो जाएंगे। सर्वश्रेष्ठ उपाय उचित टेस्ट और वनडे चैम्पियनशिप आयोजित करना होगा जहां हर देश को नियमित क्रिकेट खेलने को मिले। इसके साथ ही बेमानी मैचों की संख्या में कटौती भी हो जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईपीएल, चैम्पियंस लीग के लिए अलग विंडो की जरूरत