class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वैट व मनोरंजन कर से संबंधित अधिसूचना भी सदन में रखे गए

शराब पी कर हंगामा करने वाले सावधान हो जाएं, दिल्ली आबकारी विधेयक-2009 सरकार ने सदन पटल पर रख दिया गया है। इसके पारित होने के बाद सार्वजनिक स्थलों पर शराब पीना, हंगामा करना आदि मंहगा साबित होगा। इसके अलावा गुरुवार को सत्र के दूसरे दिन सदन में प्रवासी भारतीय दिवस पर होटलों को मनोरंजन कर से मुक्त करने, होटलों के टर्नओवरों पर छूट 10 फीसदी करने और तंबाकू व गुटकों पर वैट 20 फीसदी करने से संबंधित अधिसूचना भी सदन पटल पर रखे गए हैं।


गौरतलब है कि अवैध शराब बिक्री रोकने व शराब पी कर हंगामा करने वालों के साथ सख्ती से निपटने के लिए सरकार ने दिल्ली आबकारी विधेयक 2009 तैयार किया है। इस विधेयक में कई सख्त कदम उठाए गए हैं। विधेयक के पारित होने से जहां अवैध शराब की बिक्री पर अंकुश लग सकेगा, वहीं शराब पी कर हंगाम करने वालों को भी रोका जा सकेगा। विधेयक में प्रावधान है कि सार्वजनिक स्थल पर शारब पीने पर 5 हजार रुपये, शराब पी कर सार्वजनिक स्थानों पर शोर-शराबा करने पर 10 हजार रुपये और असमाजिक तत्वों को इकट्ठा करने व शराब पीने पर 50 हजार रुपये तक जुर्माना किया जा सकेगा। साथ ही कैद की भी सजा है। इस विधेयक को वित्त व आबकारी मंत्री डॉ. ए.के. वालिया ने गुरुवार को सदन पटल पर रखा।


इसके अलावा वालिया ने प्रवासी भारतीय दिवस के मौके पर 6 से 10 जनवरी 2010 तक प्रवासी भारतीयों के ठहरने वाले होटलों को मनोरंजर कर से मुक्त करने संबंधित अधिसूचना भी सदन में रखा। साथ ही जून महीने में तंबाकू और गुटखा पर वैट 12.5 से 20 फीसदी किए जाने से संबंधित अधिसूचना सदन में प्रस्तुत किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वैट संबंधित अधिसूचना भी सदन में रखे गए