DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

परीक्षा के अंतिम दिन छात्रों का उपद्रव, ट्रेनें बनीं निशाना

मैट्रिक परीक्षा के अंतिम दिन शनिवार को छात्रों ने उत्पात मचाते हुए कई ट्रेनों पर जमकर पथराव किया। इस घटना में कटिहार इंटरसिटी, लोकमान्य-गुवाहाटी व धनबाद इंटरसिटी की एसी बोगी के कई शीशे टूट गए। वहीं कई यात्रियों को चोटें आईं। पटना जंक्शन पर ट्रेनों में कब्जा जमाए छात्र पटना साहिब स्टेशन पहुंचते ही उग्र हो गए। पटना सिटी स्टेशन पर जमकर हंगामा किया। आरपीएफ व जीआरपी के हस्तक्षेप के बाद उपद्रव शांत हुआ। पटना सिटी से ट्रेन रवाना होने के बाद छात्र फिर उग्र हो गए। इस प्रकार उनके उपद्रव से पटना से मोकामा तक यात्रियों की भारी फाीहत हुई।ड्ढr ड्ढr पटना सिटी से खुलने के बाद छात्रों ने चेन खींचकर कटिहार इंटरसिटी को रोक दिया और पत्थरों की बरसात करके उसके कई शीशे तोड़ दिए। रलकर्मियों के अनुसार छात्रों को एसी बोगी से उतरने के लिए कहा गया था, इसी बात पर वे उग्र हो गए। इसी प्रकार लोकमान्य-गुवाहाटी को बख्तियारपुर में रोककर छात्रों ने रोड़ेबाजी की। वहीं धनबाद से पटना आ रही इंटरसिटी एक्सप्रेस लखीसराय व बड़हिया के बीच उनके कहर की शिकार हुई। इस बार में रल डीएसपी राजेंद्र सिंह ने कहा कि इन घटनाओं में कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है। पाटलिपुत्र हाईस्कूल में हंगामा, तोड़फोडड़्ढr पटना (हि.प्र.)। परीक्षा के दौरान ही कड़ाई को लेकर पाटलिपुत्र हाईस्कूल में हंगामा, तोड़फोडड़्ढr शुरू हो गया। अनिवार्य विषय नहीं रहने के कारण छात्रों ने बिना डर हंगामा किया। छात्रों के हंगामे को देखते हुए वीक्षक कक्ष से बाहर निकल गए। इसके बाद छात्रों ने बेंच-डेस्क को पटका। इसके बाद भी जब उनका आक्रोश शांत नहीं हुआ तो उन्होंने स्कूल में बिजली की वायरिंग को नोच दिया और बल्ब को फोड़ दिया। छात्रों के हंगामे को बढ़ता देख स्कूल प्रशासन ने वहां सुरक्षा बलों को बुला लिया। इसके बाद छात्रों ने कॉपी जमा की और निकल गए। स्कूल के प्राचार्य ने समिति को इस घटना की सूचना दी। सूचना मिलने के तुरंत बाद समिति के अध्यक्ष प्रो. एकेपी यादव ने प्राचार्य को नुकसान का ब्योरा मांगा है। समिति ने संकेत दिया है कि छात्रों पर सामूहिक जुर्माना भी लगाया जाएगा। अध्यक्ष ने कहा कि समिति को रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद उसकी समीक्षा होगी। समीक्षा के क्रम में घटना को गंभीर पाए जाने पर क्षतिपूर्ति के लिए केंद्र के सभी छात्रों पर जुर्माना होगा। समिति ने छात्रों के हंगामे को सकारात्मक रूप में देखा है। उनका मानना है कि हंगामा कारण पूरी परीक्षा के दौरान कड़ाई रहना है। साथ ही उन्होंने सुरक्षा व्यवस्था की भी समीक्षा शुरू कर दी है। इसके अलावा जिला में विभिन्न केंद्रों पर परीक्षा शांतिपूर्ण रही। जिला शिक्षा अधीक्षक किरण कुमारी ने बताया कि परीक्षा के दौरान कहीं से किसी प्रकार की सूचना नहीं मिली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: परीक्षा के अंतिम दिन छात्रों का उपद्रव, ट्रेनें बनीं निशाना