class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देविका रानी की तलाश ट्रैजडी किंग दिलीप कुमार

देविका रानी की तलाश ट्रैजडी किंग दिलीप कुमार

हिन्दी सिनेमा में चार दशक तक अपने अभिनय से लोगों के दिलों पर राज करने वाले ट्रैजडी किंग दिलीप कुमार गुजरे जमाने की शानदार अदाकारा देविका रानी की तलाश थे जिन्हें फिल्मकार अमिया चक्रवर्ती ने दिलीप नाम दिया। बात सन 1943 की है़जब देविका रानी और उनके पति निकोलाई रोरिक ने पुणे के मिल्रिटी कैंटिन में एक खूबसूरत युवक को देखा। देविका रानी ने दिलीप कुमार की प्रतिभा को पहली नजर में पहचान लिया था और उन्हें बम्बे टाकीज में आमंत्रित किया।

बालीवुड में शुरूआती सफर में दिलीप कुमार को देविका रानी के पूर्व पति एवं बॉम्बे टाकिज के संस्थापक हिमांशु राय से काफी मदद मिली। आमिया राय ने युसुफ खान को दिलीप कुमार नाम दिया और 1944 में पहली फिल्म ज्वार भाटा में वह रूपहले पर्दे के जरिये लोगों के सामने आए।

दिलीप कुमार का स्वास्थ्य इन दिनों ठीक नहीं चल रहा है और सार्वजनिक समारोहों से वह दूर रह रहे हैं । दिलीप कुमार की पत्नी और अभिनेत्री सायरा बानो ने कहा कि दिलीप साहब का स्वास्थ्य इन दिनों ठीक नहीं है। लोगों से मिलना जुलने का कार्यक्रम कम हो गया है। जन्मदिन के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा  देश दुनिया के लोगों का प्यार उन्हें मिलता रहा है और सभी लोगों की शुभकामनाएं उनके साथ हैं।

सायरा बानो को आज भी मराठा कला मंदिर का वह दृश्य याद है जब एक आम प्रशंसक के रूप में दिलीप साहब की फिल्म मुगले आजम के प्रीमियर के मौके पर वह घंटों ट्रैडजी किंग की एक झलक के लिए खड़ी रही थी। हालांकि उस दिन सायरा, दिलीप साहब को नहीं देख पायी।

सायरा बानो की तम्मना 2004 में उस समय पूरी हुई जब मुगले आजम के रंगीन संस्करण के प्रदर्शन के मौके पर दिलीप साहब ने अपनी सरिके हयात का मराठा मंदिर में आगे बढ़ कर स्वागत किया। दिलीप कुमार के बारे में फिल्म पा के प्रीमियर के मौके पर बालीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चान ने कहा था  दिलीप साहब का स्वास्थ्य इन दिनों ठीक नहीं है । जब मैंने हाल में उनसे बातचीत की तो उनकी चिरपरिचित मुस्कान पहले की तरह दिल में उतर गई।

उन्होंने कहा जब मैं पा के बारे में जिक्र करते हुए कहा कि इस फिल्म में मैंने अभिषेक के पुत्र का किरदार निभाया है़तो वह खूब हंसे । दिलीप साहब, शम्मी जी आदि के लिए मैं फिल्म पा के विशेष प्रदर्शन की व्यवस्था कर रहा हूं।दिलीप कुमार उर्फ युसुफ खान का जन्म 11 दिसंबर 1922 को हुआ था। बालीवुड में ट्रैजडी किंग के रूप में विख्यात दिलीप कुमार को कई फिल्म फेयर पुरस्कारों अलावा 1994 में दादा साहब फाल्के पुरस्कार और पाकिस्तान सरकार की ओर से सवर्ोच्च असैनिक सम्मान निशन ए इम्तियाज से नवाजा गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:देविका रानी की तलाश ट्रैजडी किंग दिलीप कुमार