अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

900 लोगों की पीड़ा जानी सीएम ने

मुख्यमंत्री डॉ़ रमेश पोखरियाल निशंक ने बुधवार को सचिवालय में जनता मिलन कार्यक्रम में प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों से आए लगभग 900 लोगों के दुख-दर्द को सुना और उन्हें दूर करने का प्रयास किया। 674 आवेदनों पर मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से 19 लाख 54 हजार रुपये तत्काल मंजूर किए।

मुख्यमंत्री ने वहां आए प्रत्येक व्यक्ति की समस्या को धैर्यपूर्वक को सुना। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का प्रयास है कि जनता की समस्याओं का त्वरित समाधान हो, इसके लिए जनपदों में भी जनता मिलन कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि वे तहसील, ब्लॉक एवं जिला मुख्यालय स्तर पर भी लोगों की समस्याएं सुने और उनका तत्काल समाधान करें।

 उत्तरकाशी निवासी चन्द्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि क्षतिग्रस्त पुलिया के निर्माण हेतु 2008 में 50 लाख रुपये स्वीकृत हुए थे, लेकिन अभी तक पुलिया का निर्माण नही हुआ। इस प्रकरण पर मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी उत्तरकाशी को तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिये।

मुख्यमंत्री ने रूद्रपुर निवासी मजिद सैफी के आवेदन पर अपर सचिव दीपम सेठ को उचित कार्रवाई के निर्देश दिये। रीता त्यागी को उसके पति स्व. जय त्यागी जो बीटीसी प्रशिक्षण के दौरान दिवंगत हो गये थे, के स्थान पर सेवायोजन के आवेदन पर मुख्यमंत्री ने सचिव शिक्षा को परीक्षण कर आवश्यक कार्रवाई के लिए कहा। राजबाला को वृद्घावस्था पेंशन तुरंत स्वीकृत करने के निर्देश जिलाधिकारी को दिये।

मुख्यमंत्री ने मृतक आश्रित सौरभ त्यागी को दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ में नियुक्ति के प्रकरण पर संबंधित अधिकारी को इस प्रकरण पर एक सप्ताह में रिपोर्ट देने के निर्देश दिए।  इस अवसर पर जिलाधिकारी देहरादून डी़सेथिंल पांण्डियन, अपर सचिव दीपम सेठ, अपर सचिव अरविन्द सिंह हयांकी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिनव कुमार, उप सचिव सुनील श्री पांथरी, गोकुलानन्द लोहनी, गिरीश चन्द डालाकोटी, कम्प्यूटर प्रोग्रामर मुकेश कुड़ियाल सहित एवं समस्त जनपदीय अधिकारी, सम्बन्घित अपर सचिव उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:900 लोगों की पीड़ा जानी सीएम ने