DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस भर्ती घोटाला मामले में डीजी डीपी सिन्हा हटाए गए

भर्ती के नाम पर ठगी करने के आरोप में फँसे बेटे ने बाप को मुश्किल में डाल दिया है। शासन ने पुलिस महानिदेशक प्रशिक्षण डीपी सिन्हा को उनके पद से हटाकर रूल्स एंड मैनुअल में भेज दिया। पुलिस भर्ती घोटाले की विवेचना में महानिदेशक प्रशिक्षण की भूमिका की भी जाँच की जा रही। इस बीच पुलिस श्री सिन्हा के बेटे रितेश सिन्हा की तलाश कर रही है।

एडीजी कानून व्यवस्था बृजलाल ने बुधवार को यहाँ बताया कि यह साबित हो गया है कि पुलिस में डेली वेजज पर तैनाती कराने के लिए रितेश ने पचास-पचास हजार रुपए लिए। मेरठ और गोरखपुर पुलिस ट्रेनिंग कार्यालय में दो-दो व्यक्तियों को पैसा लेकर दिहाड़ी पर तैनात कराया गया। इन चारों का कार्यकाल खत्म हो चुका है।

उन्होंने बताया कि इस मामले में अब तक केवल एक व्यक्ति धूम सिंह को गिरफ्तार किया गया है। रितेश और मौर्या नामक एक अन्य मुलजिम फरार हैं। उनकी तलाश जारी है। रितेश के खिलाफ 420 का मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि इस मामले की जाँच सहारनपुर पुलिस कर रही है।

एडीजी से पूछा गया कि क्या इन भर्तियों में डीजी प्रशिक्षण श्री सिन्हा की भी कोई भूमिका थी? इस पर उन्होंने कहा यह विवेचना का विषय है। गृह विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि श्री सिन्हा को प्रशिक्षण से हटा कर रूल्स एंड मैनुअल विभाग में तैनात किया गया है। इस विभाग में तैनात सुधीर कुमार अवस्थी को पुलिस महानिदेशक प्रशिक्षण बनाया गया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पुलिस भर्ती घोटाला मामले में डीजी डीपी सिन्हा हटाए गए