class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो नई गन्ना प्रजातियाँ जारी

प्रदेश सरकार ने गन्ना किसानों को अधिक चीनी परता एवं औसत उपज देने वाली दो नई उन्नतिशील  किस्म की गन्ना प्रजातियाँ को.शा. 07250 तथा को.से. 01434 अवमुक्त कर दी हैं। यह जानकारी गन्ना आयुक्त सुधीर एम.बोबडे ने बुधवार को यहाँ बीज गन्ना तथा गन्ना प्रजाति स्वीकृति उपसमिति की बैठक के बाद दी।

उन्होंने बताया कि गन्ना शोध संस्थान शाहजहाँपुर में ही विकसित को.शा. 03251, यूपी 49 तथा को.लख. 94184 प्रजातियों को एक वर्ष की परीक्षण श्रेणी में रखा गया है। खरा उतरने पर इन तीनों प्रजातियों को भी किसानों के लिए जारी किया जाएगा।

गन्ना आयुक्त के अनुसार को.शा. 07250 की औसत उपज पौधा गन्ने में 106.76 टन प्रति हेक्टेयर तथा पेड़ी गन्ने में 80.60 प्रति हेक्टेयर आने की सम्भावना है। इस प्रजाति से औसत चीनी परता 14.02 टन प्रति हेक्टेयर आँका गया है जो एक अच्छी चीनी रिकवरी मानी जाती है।

को.से. 01434 गन्ना प्रजाति के पौधा गन्ने की औसत उपज 102.16 टन प्रति हेक्टेयर है जबकि इसकी पेड़ी गन्ने की औसत उपज 84.42 टन प्रति हेक्टेयर आँकी गई है।

गन्ना आयुक्त की अध्यक्षता में सम्पन्न बैठक में प्रगतिशील किसानों, गन्ना शोध वैज्ञानिकों, भारत सरकार के वैज्ञानिकों, इण्डियन शुगर मिल एसोसिएशन के प्रतिनिधि तथा विभिन्न चीनी मिलों के प्रतिनिधियों ने दोनों गन्ना प्रजातियों के सम्बंध में व्यापक विचार-विमर्श कर किसानों ने लिए इन प्रजातियों को जारी किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो नई गन्ना प्रजातियाँ जारी