अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विज्ञान की पीजी पढ़ाई में शोध की नई व्यवस्था

प्रदेश के सभी जनपदों में विज्ञान की पोस्ट ग्रेज्युएट पढ़ाई में शोध कार्य के लिए नई व्यवस्था की जाएगी। इसके तहत बुनियादी सुविधाएँ उपलब्ध करवाने के वास्ते पहले चरण में लखनऊ मण्डल के कम से कम सौ डिग्री कॉलेज शामिल किए जाएंगे। इस बाबत प्रस्ताव भारत सरकार को वित्तीय सहायता के लिए भेजा जाएगा। यह निर्देश बुधवार को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री अब्दुल मन्नान ने समीक्षा बैठक में दिए।

उन्होंने विभाग में चल रही सभी परियोजनाओं का पूरा रिकार्ड रखने के लिए डाटा बेस तैयार करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने वैज्ञानिक अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी परियोजनाएं निर्धारित अवधि में पूरी की जाएँ व वैज्ञानिकों के बीच कार्य आवंटन का मानक तैयार कर सबकी जिम्मेदारी तय की जाए।

बैठक में प्रमुख सचिव विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी बी.एम.मीणा, निदेशक विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद उ.प्र., परिषद के वैज्ञानिक अधिकारी तथा रिमोट सेंसिंग सेण्टर के वैज्ञानिक उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विज्ञान की पीजी पढ़ाई में शोध की नई व्यवस्था