DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोसी का मिजाज जानने पुणे पहुंचे बिहार के अधिकारी

एक दशक के बाद कोसी मॉडल की याद आई और कोसी मॉडल ढूंढ़ते बिहार के अधिकारी दस वर्षो के बाद पुणे पहुंचे। हालांकि यह तलाश गत वर्ष ही शुरू हो गई थी और बिहार के अधिकारी पुणे स्थित केन्द्र सरकार की संस्था ‘सेन्ट्रल वाटर एंड पावर रिसर्च स्टेशन’ के संपर्क में आ गए थे।

यह शोध संस्था वर्ष 1955 से ही हर वर्ष कोसी में पानी आने और तटबंध पर उसके प्रभाव का अध्ययन करती थी लेकिन वर्ष 1995 से ही यह काम बंद होने लगा। अंतिम बार बिहार ने 1999 में कोसी नदी  के अध्ययन के लिए पुणे मॉडल की मदद ली। उसके बाद से यह काम पूरी तरह बंद है। अब नए सिरे से बिहार ने कोसी मॉडल का अध्ययन प्रारंभ किया है। इसके लिए राज्य सरकार ने इंस्टीच्यूट को पुराना बकाया समेत 1.24 करोड़ रुपए का भुगतान भी कर दिया है।

विभाग के मंत्री विजेन्द्र प्रसाद यादव स्वीकार करते हैं कि मॉडल टेस्ट की उपेक्षा हुई है। उन्होंने कहा कि यही कारण है कि वर्ष 2004 में कोसी की धारा तटबंध के काफी करीब आ गई और किसी को पता भी नहीं चला।

सेटैलाइट पिक्चर बताते हैं कि धारा धीरे-धीरे बहुत नजदीक आई। यही नहीं सिल्टेशन के कारण भी नदी का बहाव प्रभावित हुआ। कोसी का मॉडल अध्ययन होता रहता तो कई चीजों का हमें पता होता। पुणे में यह मॉडल जर्जर हो चुका था। हमने उस पर फिर से काम शुरू किया है।

पिछले दिनों जल संसाधन विभाग के प्रधान सचिव अजय.वी. नायक के नेतृत्व में राज्य के अधिकारियों का एक दल पुणे गया। यह पहला अवसर था जब विभाग के प्रधान सचिव ने टीम का नेतृत्व किया। पुणे में विशेषज्ञों के समक्ष नदी के डिस्चार्ज के आधार पर मॉडल टेस्ट किया गया।

सबसे पहले 50 हजार क्यूसेक पानी डिस्चार्ज कर नदी के तटबंध और स्पर पर उसके प्रभाव का निरीक्षण किया गया फिर एक लाख क्यूसेक, 2 लाख क्यूसेक, 3.5 लाख क्यूसेक, 4 लाख क्यूसेक और 5 लाख क्यूसेक डिस्चार्ज का मॉडल टेस्ट किया गया। इसके बाद डिस्चार्ज को घटाते हुए 50 हजार क्यूसेक पर लाया गया।

संस्था मॉडल टेस्ट की रिपोर्ट 15 दिसम्बर को राज्य को सौंपेगी। टीम में सेन्ट्रल वाटर कमीशन के सदस्य व जीएफसीसी के अध्यक्ष आर.सी. झा, सदस्य एम.यू. गनी भी शामिल थे। मॉडल टेस्ट के दौरान सेन्ट्रल वाटर एंड पावर रिसर्च स्टेशन के निदेशक डॉ. आई. डी. गुप्ता भी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोसी का मिजाज जानने पुणे पहुंचे बिहार के अधिकारी